IPL के इतिहास में सबसे मनहूस रहा है 16 मई का दिन, कई खिलाड़ी हुए थे गिरफ्तार

ipl_spot_fixing.jpg

IPL के इतिहास में 16 मई काले दिवस के रूप में अंकित है। इस दिन यह लीग विवादों में घिर गई थी और कई खिलाड़ियों को गिरफ्तार किया गया था।

 

 

नई दिल्ली। IPL दुनिया की सबसे मशहूर लीग बन चुकी है। इस लीग ने भारतीय टीम के लिए युवाओं की कतार लगा दी है। यह सब IPL की बदौलत ही संभव हुआ कि भारत के पास आज युवा खिलाड़ियों की एक फौज तैयार है। दुनियाभर के खिलाड़ी इस लीग में अपना दमखम दिखाने आते हैं। लेकिन IPL के इतिहास में 16 मई एक काले दिवस में रूप में अंकित है। इस दिन यह लीग फिक्सिंग के चलते आरोपों में घिर गई थी।

यह भी पढ़ें—Ben Stokes ने किया साफ मना, राजस्थान रॉयल्स के लिए नहीं खेलेंगे IPL 2021 के बचे हुए मैच

छठे सीजन में फूटा था फिक्सिंग का बम
आईपीएल के छठे सीजन में फिक्सिंग का बम फूटा था और कई खिलाड़ी लपेटे में आए थे और उन्हें गिरफ्तार किया गया था। राजस्थान के तीन खिलाड़ी एस. श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंडीला इसमें फंसे थे और दिल्ली पुलिस ने इन तिनों को सट्टेबाजों से मिले होने के चलते गिरफ्तार किया था।

गुरुनाथ मरियप्पन हुए थे गिरफ्तार
बीसीसीआई के अध्यक्ष और चेन्नई सुपर किंग्स टीम के प्रिंसिपल एन. श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मरियप्पन को भी धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

 

श्रीनिवासन पर था पद छोड़ने का दवाब
उस दौरान श्रीनिवासन पर बीसीसीआई के अध्यक्ष का पद छोड़ने का दवाब था, लेकिन वह अपनी जिद पर अड़े रहे थे। बोर्ड के सचिव, कोषाध्यक्ष और आईपीएल चेयनमैन ने इस्तीफे दे दिए थे। इसके बाद श्रीनिवासन ने अस्थाई तौर पर अलग होने का फैसला किया था।

शिल्पा के पति राजकुंद्रा भी फंसे थे
राजस्थान रॉयल के मालिक और बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राजकुंद्रा ने भी उस दौरान आईपीएल मैचों में सट्टेबाजी की बात कबूल की थी। इसी कारण राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपर किंग्स को दो साल के लिए आईपीएल से बैन कर दिया था।

यह भी पढ़ें— 24 साल के बल्लेबाज की नेट सेशन के दौरान अचानक हुई मौत से सदमे में क्रिकेट जगत

इन खिलाड़ियों का हुआ कॅरियर बर्बाद
आईपीएल में सट्टेबाजी के लगे आरोपों से बीसीसीआई ने तीन खिलाड़ियों को बैन कर दिया था जिससे उनका पूरा क्रिकेट कॅरियर चौपट हो गया था। श्रीसंत ने हालांकि अपने ऊपर लगे बैन के खिलाफ लंबी लड़ाई लगी और वह क्रिकेट में वापसी करने में सफल रहे। वह केरल के लिए विजय हजारे ट्रॉफी-2021 में भी खेले थे।

चव्हाण और चंदेला कॅरियर खत्म
श्रीसंत के अलावा अंकित चव्हाण और अजित चंदेला पर फिक्सिंग के आरोप लगे थे जिसके बाद उनका क्रिकेट कॅरियर खत्म हो गया। दिल्ली कोर्ट ने इन दोनों को क्लीन चिट तो दे दी थी, लेकिन बीसीसीआई ने इनके ऊपर लगे बैन को नहीं हटाया था।


Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here