शरीर कैसे साफ करें:दो दिनों में, आम के पत्ते शरीर से गंदगी को साफ कर देंगे, इस तरह उपयोग करें.

शरीर कैसे साफ करें:दो दिनों में, आम के पत्ते शरीर से गंदगी को साफ कर देंगे, इस तरह उपयोग करें.

स्वस्थ और फिट रहने के लिए, शरीर की बाहरी सफाई के साथ-साथ आंतरिक स्वच्छता बहुत महत्वपूर्ण है। आजकल खराब भोजन और जीवनशैली शरीर में कई हानिकारक और विषाक्त पदार्थों को जमा करते हैं और कई गंभीर बीमारियों का कारण बनते हैं।

आयुर्वेद में शरीर की सफाई के लिए कई औषधीय पौधों का उल्लेख है। इसे लेने से शरीर की आंतरिक सफाई हो सकती है।

शरीर में विषाक्त पदार्थों के संचय के संकेत

अगर आपको हर समय आलस या सुस्ती, चेहरे का पीलापन, बालों का झड़ना, पेट की बीमारियां, अपच और संक्रमण जैसी समस्याएं हैं, तो इसका मतलब है कि आपका शरीर गंदगी से भरा है, इसे साफ करना बहुत जरूरी है।

खराब जीवन शैली और आहार शरीर को बीमारियों का घर बनाते हैं। यही वजह है कि आजकल हर दूसरा व्यक्ति पेट दर्द, गैस, एसिडिटी, कब्ज और हार्टबर्न जैसी समस्याओं से ग्रसित है। एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में लगभग 70 प्रतिशत लोगों को सुबह शौच के दौरान साफ ​​पेट नहीं होता है।

शरीर की सफाई के घरेलू उपाय

आम के पत्ते

यह आयुर्वेदिक चीज है आम के पत्ते। यह दिल के लिए बहुत फायदेमंद है। आम के पत्तों के पाउडर के रोजाना सेवन से दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

इसके सेवन से किडनी, लिवर और फेफड़ों की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। इतना ही नहीं, शरीर में संग्रहीत हानिकारक और विषाक्त पदार्थ मूत्र में उत्सर्जित होते हैं और शरीर हमेशा स्वस्थ और तंदरुस्त रहता है।

कार्रवाई कैसे करें

अगर आप हर समय किडनी, फेफड़े और लिवर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो आम के पत्तों को बारीक पीसकर पाउडर बना लें और खाने से 20 मिनट पहले आधा चम्मच लें।

यह उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है

उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए आम की पत्तियां भी बहुत फायदेमंद होती हैं। आम के पत्तों का काढ़ा कुछ दिनों में उच्च रक्तचाप से छुटकारा दिला सकता है।

कड़ी मेहनत या हरियाली भी फायदेमंद है

आम के पत्तों के अलावा हरी या हरी पत्तेदार सब्जियों का इस्तेमाल करना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार, हार्ड का आंतों पर हल्का प्रभाव पड़ता है। आंतों की नियमित सफाई के लिए लोहबान का नियमित उपयोग फायदेमंद है।

हरड़ या हरीतकी के गुण

सल्फर में 18 प्रकार के अमीनो एसिड होते हैं। इनमें मुख्य रूप से टैनिक एसिड के बीज, गैलिक एसिड के बीज, चेबुलिनिक एसिड के बीज जैसे कि एस्ट्रिंजेंट आदि शामिल हैं। इसके अलावा, इसमें पानी और अन्य अघुलनशील पदार्थ भी होते हैं।

पेट साफ करने के अलावा, यह ब्लॉक के लिए भी बहुत उपयोगी है। गंभीर ऐंठन और दस्त से छुटकारा पाने के लिए कड़ी मेहनत का उपयोग किया जाता है। हरड़ दस्त में विशेष रूप से लाभकारी है।

यह आंतों को संकुचित करके रक्तस्राव को कम करता है, वास्तव में, यह दस्त के साथ रक्तस्राव के रोगी को कमजोर करता है। हरड़ एक अच्छा जीवाणुरोधी पदार्थ भी है।