वजन नियंत्रित करने से लेकर सर्दी-जुकाम, हींग के पानी जैसी बीमारियों से निजात पाने के लिए, आप भी जानिए

वजन नियंत्रित करने से लेकर सर्दी-जुकाम, हींग के पानी जैसी बीमारियों से निजात पाने के लिए, आप भी जानिए

आप हींग का सेवन करते रहे होंगे। वहीं हींग का पानी भी बहुत फायदेमंद होता है। आपको हींग के पानी के कई फायदों के बारे में भी पता होना चाहिए।

नई दिल्ली। आप हींग का सेवन करते रहे होंगे। हींग खाने का स्वाद बढ़ाने का काम करती है। वहीं इसकी मीठी महक खाने में स्वाद के साथ-साथ खुशबू को भी बढ़ा देती है। हींग का सेवन पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। हींग का उपयोग पेट की समस्याओं को कम करने के लिए भी किया जाता है। इसमें कई तत्व भी पाए जाते हैं जैसे कि एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल आदि। यह इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है। जिससे हमारी पाचन शक्ति मजबूत होती है। हींग के साथ-साथ इसके पानी के भी कई फायदे हैं।
तो आइए जानते हैं इनसे होने वाले फायदों के बारे में-

सबसे पहले जानिए हींग का पानी बनाने की विधि
सबसे पहले एक गिलास पानी लें, उसमें आधा चम्मच हींग का पाउडर डालकर हल्का गर्म करें। इसे बनाना तो आसान है, लेकिन इसके सेवन से कई फायदे होते हैं। इस पानी को खाली पेट पीने से पेट को कई फायदे मिलते हैं। पेट दर्द, बदहजमी आदि समस्याएं दूर हो जाती हैं।

अस्थमा जैसी बीमारियों से दिलाती है राहत
हींग के पानी में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक्स जैसे कई तत्व होते हैं। जो आपको अस्थमा जैसी समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है। अगर आप लंबे समय से सांस की समस्या से परेशान हैं तो गर्म पानी के साथ सोंठ, हींग, शहद का सेवन फायदेमंद साबित होगा।

सर्दी से राहत देता है
हींग के पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी जैसे कई तत्व पाए जाते हैं। जो सर्दी से सुरक्षा प्रदान करते हैं, वे सिर में दर्द को कम करने में सक्षम हैं। अगर आप रोजाना इसके पानी का सेवन करते हैं तो सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों का खतरा भी दो गुना कम हो जाता है।

वजन नियंत्रित करने में फायदेमंद
हींग के पानी के रोजाना सेवन से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है। ताकि हमारे शरीर में एक साथ ज्यादा चर्बी जमा न हो। हींग शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में मदद करती है। कोलेस्ट्रॉल कम करने से दिल की बीमारियों का खतरा भी काफी कम हो जाता है। वहीं हींग के पानी का रोजाना सेवन करने से पेट का पीएच लेवल भी नियंत्रित रहता है।

.

Source link

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here