महिला मित्र ने डिलीवरी ब्वॉय का अर्धनग्न वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल

महिला मित्र ने डिलीवरी ब्वॉय का अर्धनग्न वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल

 डिलीवरी ब्वॉय का उसके महिला मित्र ने ही अर्धनग्न अवस्था में वीडियो बनाया और पति तथा उसके मित्रों की मदद से दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर एक लाख रुपए की मांग की। नंदनवन थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है। दंपति समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें पीसीआर में भेज दिया गया।

‘हनी ट्रैप’ की योजना बनाई
घटना बाबुलबन गरोबा मैदान निवासी डिलीवरी ब्वॉय हितेश लक्ष्मण आगासे (28) के साथ हुई। आरोपियों में पूजा बुद्धदेव (30) उसका पति केवल बुद्धदेव (33) रमना मारोति नगर निवासी और केवल के मित्र साैरभ रायपुरे (27) और शुभम बुरडकर (27) हैं। केवल निजी काम करता है। करीब पांच वर्ष पहले हितेश और पूजा किसी मोबाइल कंपनी में काम करते थे। वर्तमान में हितेश डिलीवरी ब्वॉय का काम करता है, जबकि पूजा पिग्मी एजेंट है। पुराना काम छूटने के बाद भी उनमें मित्रता है। यह उसके पति को नागवार गुजर रहा था, इसलिए ‘हनी ट्रैप’ की योजना बनाई। 

घर आते ही पिटाई 
शनिवार की रात साढ़े आठ बजे पूजा ने हितेश को फोन कर मिलने के लिए घर में बुलाया। साथ ही केवल को वाट्सएप मैसेज कर हितेश के घर आने की जानकारी दी। हितेश दो मित्रों के साथ घर पहुंचा। आते ही केवल और शुभम ने हितेश की पिटाई शुरू कर दी। उसके कपड़े उतरवाए और उनके कहने पर पूजा ने अपने मोबाइल में उसका अर्धनग्न वीडियो बनाया। इसके बाद उन्होंने हितेश की जेब से छह सौ रुपए की नकदी और एटीएम कार्ड छीन लिया। एटीएम से 13 हजार रुपए भी निकाले। फिर पूजा के साथ दुष्कर्म करने के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर एक लाख रुपए की मांग की। चेतावनी दी कि नहीं देने पर वह वीडियो वायरल कर देंगे। 

10 अक्टूबर तक पीसीआर 
आरोपियों के चंगुल से छूटते ही हितेश थाने पहुंचा और प्रकरण के बारे में बताया। पुलिस ने तत्काल पूजा, केवल, शुभम और सौरभ को गिरफ्तार किया।  उन्हें अदालत में पेश कर 10 अक्टूबर तक पीसीआर में लिया गया है। निरीक्षक सांदीपनि पवार के मार्गदर्शन में सहायक निरीक्षक सचिन शिर्के व राऊत मामले की जांच कर रहे हैं।