नितिन गडकरी का बयान

नितिन गडकरी का बयान

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा है कि आने वाले 2 वर्षों में इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत पेट्रोल वाहनों के बराबर होगी।

नई दिल्ली. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में एक बयान देते हुए विश्वास जताया है कि आने वाले 2 वर्षों में इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत पेट्रोल वाहनों के बराबर हो जाएगी. गडकरी ने कहा कि सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री बढ़ाने की पूरी कोशिश कर रही है. इसके साथ ही सरकार FAME योजना के तहत इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी भी दे रही है। इन वाहनों पर पीएलआई देने के साथ ही सरकार मुख्य राजमार्गों पर इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए के फ्यूल स्टेशन और चार्जिंग प्वाइंट भी लगा रही है। गडकरी ने डेनमार्क के ‘द सस्टेनेबिलिटी फाउंडेशन’ द्वारा आयोजित एक वेबिनार में यह बात कही।

इलेक्ट्रिक वाहनों की ऊंची कीमत के कारण

गडकरी ने इस वेबिनार में आगे कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों की उच्च लागत का कारण वर्तमान में इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी बनाने में उपयोग किए जाने वाले लिथियम की उच्च लागत है।

स्क्रीनशॉट_2021-11-09_electric_vehicle.png

लिथियम और इलेक्ट्रिक वाहनों की लागत कम करने के उपाय

गडकरी ने आगे कहा कि सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों पर केवल 5% जीएसटी लगाती है, जबकि पेट्रोल वाहनों पर 48% जीएसटी लगता है। ऐसे में सरकार की ओर से इलेक्ट्रिक वाहनों पर जीएसटी कम और भविष्य में लिथियम का अधिक उत्पादन होने से इसकी कीमत में कमी आएगी। गडकरी ने यह भी बताया कि सरकार ने 2030 तक 30% निजी कार, 70% वाणिज्यिक कार और 40% बसें और 80% इलेक्ट्रिक दोपहिया और तिपहिया वाहन बनाने का लक्ष्य रखा है। ऐसे में, उत्पादन का 81% लिथियम बैटरी स्थानीय स्तर पर की जा रही है। इसके साथ ही सस्ती बैटरी पर भी शोध किया जा रहा है। इससे लिथियम और इलेक्ट्रिक वाहनों की लागत भी कम होगी।

लिथियम_बैटरी.jpg

इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अधिक से अधिक चार्जिंग पॉइंट स्थापित किए जा रहे हैं

गडकरी ने कहा कि सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अधिक से अधिक चार्जिंग प्वाइंट बनाने पर काम कर रही है. सरकार अगले दो साल में देश में हजारों चार्जिंग प्वाइंट स्थापित करेगी। सरकार ने देश में 350 चार्जिंग प्वाइंट लगाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी है। इसके साथ ही पेट्रोल पंपों को इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग प्वाइंट लगाने की भी अनुमति दी गई है। ऐसे में अगले दो साल में देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या भी तेजी से बढ़ेगी।







.

Source link

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here