धोनी ने इस खिलाड़ी को ठहराया कोलकाता के खिलाफ मिली हार का जिम्मेदार

धोनी ने इस खिलाड़ी को ठहराया कोलकाता के खिलाफ मिली हार का जिम्मेदार

कोलकाता नाइट राइडर्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच एक रोमांचक मुकाबला खेला गया। इस मैच में केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया और 168 रनों का लक्ष्य तय किया। जवाब में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम 157 रन ही बना सकी और चेन्नई के हाथों से मैच 10 रनों से निकल गया।

 10 रनों से चेन्नई ने जीता मैच

8490debdc651beb06e4ad03cbabad6cf 1?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

आईपीएल 2020 के 21 वें मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया। इस मैच में केकेआर ने टॉस जीता और किया बल्लेबाजी का फैसला। जहां, पहले बल्लेबाजी करते हुए केकेआर की टीम ने 10 विकेट के नुकसान पर 168 रनों का लक्ष्य दिया।

10 विकेट से पिछला मैच जीतने वाली चेन्नई की टीम इस मैच में लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा नहीं कर सकी और 10 रनों से मैच हार गई। मैच हारने के साथ ही अब चेन्नई की टीम प्वॉइंट्स टेबल में 5वें स्थान पर पहुंच गई।

बल्लेबाजी को धोनी ने बताया हार का कारण

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने अच्छी गेंदबाजी की और कोलकाता के सभी 10 खिलाड़ियों को 20 ओवर में 167 के स्कोर पर रोक दिया। मगर चेन्नई के बल्लेबाजी करते हुए शेन वॉट्सन के अलावा कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर ज्यादा देर के लिए नहीं टिक सका। परिणामस्वरूप चेन्नई ने 10 रन से मैच गंवा दिया। मैच खत्म होने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा,

” बीच के ओवरों में एक ऐसा चरण था जहां उन्होंने 2-3 अच्छे ओवर फेंके। अगर हमने बेहतर बल्लेबाजी की, और लगातार 2-3 विकेट नहीं गंवाए होते तो कुछ और होता। हमें पहले 5-6 ओवरों में सावधान रहना चाहिए। सैम करन वास्तव में गेंद के साथ अच्छा था, और मुझे लगता है कि हमने गेंद के साथ सामान्य रूप से अच्छा किया, लेकिन बल्लेबाजों ने आज गेंदबाजों को कमतर कर दिया।”

अंत तक इनोवेटिव रहने की है जरुरत

8490debdc651beb06e4ad03cbabad6cf 3?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने मैच गंवाया, तो 12वें ओवर के बाद। जी हां, फाफ डु प्लेसिस के आउट होने के बाद शेन वॉट्सन और अंबाती रायडू ने लगातार 2 ओवरों में विकेट गंवाए। इसके बाद फिर चेन्नई की तरफ से धोनी सहित कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर टिक नहीं सका और टीम को हार का सामना करना पड़ा। मैच के बाद धोनी ने बल्लेबाजी की कमियों पर प्रकाश डालते हुए कहा,

” स्ट्राइक का रोटेशन महत्वपूर्ण था, लेकिन मुझे लगता है कि अंतिम कुछ ओवरों में शायद ही कोई बाउंड्री थी, इसलिए हमें अंत में इनोवेटिव होने की जरूरत है जब वे लगातार एक लम्बाई की पीठ पर मार रहे हों। यहीं हमें बल्ले के साथ बेहतर अनुकूलन करने की जरूरत है और मुझे नहीं लगता कि हमने ऐसा किया है।”