टाइप 2 डायबिटीज से किडनी और आंखों पर पड़ सकता है गंभीर असर, ऐसे लक्षणों को न करें नजरअंदाज

टाइप 2 डायबिटीज से किडनी और आंखों पर पड़ सकता है गंभीर असर, ऐसे लक्षणों को न करें नजरअंदाज

मधुमेह एक प्रकार की गंभीर बीमारी है, यह आमतौर पर गलत जीवनशैली, खान-पान की आदतों के कारण होता है, इसलिए आज हम आपको मधुमेह से जुड़ी इन बातों के बारे में बताएंगे।

नई दिल्ली। डायबिटीज आजकल एक आम बीमारी हो गई है, जिसका मुख्य कारण गलत लाइफस्टाइल और गलत खान-पान है। वहीं आजकल युवा पीढ़ी को मधुमेह जैसी बीमारियों की चपेट में आते देखा जा सकता है। ऐसा माना जाता है कि मधुमेह ज्यादातर बढ़ती उम्र के साथ हो सकता है, लेकिन आजकल यह मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी वाले किसी को भी हो सकता है। आपको बता दें कि डायबिटीज टाइप 1 और टाइप 2 दो तरह की होती है। आज हम आपको बताएंगे कि टाइप 2 डायबिटीज से किडनी और आंखों पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है, इसके लक्षणों को नजरअंदाज न करें।

देखने में विफलता
अगर आपको भी आंखों से जुड़ी कोई समस्या है तो यह भी टाइप 2 डायबिटीज का लक्षण हो सकता है। मधुमेह के अधिकांश रोगियों को दृष्टि हानि होने का खतरा होता है। अगर आपको टाइप 2 डायबिटीज जैसी बीमारी है, तो आपको धुंधली दृष्टि भी हो सकती है। वहीं अगर इस रोग और आंखों के स्वास्थ्य पर उचित ध्यान न दिया जाए तो आंखों में समस्या बढ़ने का डर दुगना हो जाता है। इसलिए शुरुआत में ऐसे लक्षणों को नजरअंदाज न करें। और आंखों की जांच से लेकर मधुमेह तक, समय-समय पर सही तरीके से जांच कराएं।

यह भी पढ़ें: शुगर ही नहीं, इन चीजों के सेवन से भी बढ़ता है ब्लड शुगर

टाइप 2 डायबिटीज से किडनी और आंखों पर पड़ सकता है गंभीर असर, ऐसे लक्षणों को न करें नजरअंदाज

बार-बार वॉशरूम जाना
अगर आपको भी बार-बार वॉशरूम जाना पड़ता है तो यह भी एक गंभीर लक्षण हो सकता है। अक्सर ऐसा होता है कि वॉशरूम जाने का मतलब यह भी हो सकता है कि आपके शरीर में ब्लड शुगर का स्तर भी बढ़ सकता है। वहीं, शौचालय नहीं आने पर ऐसा लगता है कि आप बार-बार आ रहे हैं। यह भी ध्यान रखें कि दिन के मुकाबले रात में पेशाब ज्यादा आता है, जिसे शुगर का लक्षण भी माना जाता है। ऐसे में अगर आपका भी बार-बार वॉशरूम आने का मन हो रहा है। इसलिए इस लक्षण को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें।

त्वचा की समस्या
डायबिटीज के मरीजों को ज्यादातर यह देखने को मिलता है कि अगर उन्हें कोई चोट या घाव हो जाता है तो वे जल्दी ठीक नहीं होते हैं। उनकी चोट या घाव को ठीक होने में काफी समय लगता है। त्वचा का सूखापन, खुजली और निशान भी हो सकते हैं। इसे मधुमेह का एक सामान्य लक्षण माना जाता है। आपको बता दें कि इसे ‘एकैन्थोसिस निगरिकन्स’ के नाम से जाना जाता है। यह एक ऐसी स्थिति है जब शरीर में थायरॉइड की अधिकता हो जाती है। वहीं अगर त्वचा में एलर्जी बार-बार बढ़ रही है तो आपको मधुमेह की जांच जरूर करानी चाहिए।

यह भी पढ़ें: अगर आप डायबिटिक हैं तो इन पौधों की पत्तियों को डाइट में जरूर शामिल करें।

  • जानिए वहां के लक्षणों के बारे में-
  • अत्यधिक प्यासपेशाब ज्यादा आता है, ऐसे में प्यास का अहसास भी होने लगता है, वहीं ज्यादा प्यास लगना भी मधुमेह का एक लक्षण है।
  • बढ़ी हुई भूख- मधुमेह में इंसुलिन की कमी या प्रतिरोध के कारण खाया गया भोजन शरीर के भीतर ऊर्जा में परिवर्तित नहीं हो पाता है, जिसके कारण हर समय भूख का अहसास होता है।







,

Source link

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here