जानिए कैसे गांधीजी और नसीरुद्दीन शाह ने बदल दी के मेनन की जिंदगी

जानिए कैसे गांधी जी और नसीरूद्दीन शाह ने बदल दी थी के के मेनन की जिंदगी

के के मेनन को बॉलीवुड का सबसे अंडररेटेड अभिनेता माना जाता है। उन्होंने अपने अभिनय करियर में कई बेहतरीन किरदार निभाए लेकिन उसके बाद भी उन्हें वह मुकाम नहीं मिला जिसकी तलाश एक अच्छे अभिनेता को हमेशा रहती है।

कई मौकों पर के के मेनन ने खुद कहा है कि हर किरदार को निभाने के बाद उन्हें लगता था कि यह उन्हें ऊंचाइयों पर ले जाएगा, लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ। और वह अभी भी एक अंडररेटेड अभिनेता है।

केके मेनन का जन्म 2 अक्टूबर 1966 को केरल में हुआ था। वह एक फौजी परिवार से आते थे। इसलिए उनका प्रारंभिक जीवन देश के कई हिस्सों में बीता। उन्हें बचपन से ही अभिनय का शौक था। वह अपने स्कूल के दिनों से ही नाटकों आदि में हिस्सा लेता था। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि उन्होंने सबसे पहले एक नाटक में एक फूल का रोल प्ले किया था।

हालांकि के के मेनन पढ़ाई को लेकर भी सचेत थे। इसलिए उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की और एमबीए किया। इसके बाद उन्होंने एक स्टार्टअप कंपनी खोली। जो जनसंपर्क और विज्ञापन से संबंधित था। कंपनी अच्छा कर रही थी। लेकिन उनका मन इस काम में नहीं लगा।

इसके बाद उन्होंने यह कंपनी छोड़कर थिएटर ज्वाइन करने का सोचा। इसी सिलसिले में केके मेनन रोल की तलाश में नसीरुद्दीन शाह के थिएटर ग्रुप पहुंचे। लेकिन नसीर साहब ने उन्हें यह कहते हुए जाने के लिए कहा कि किसी भी कास्ट के लिए कोई जगह नहीं है।

यह भी पढ़ें, जानिए कैसे चंद सेकेंड के वीडियो ने बर्बाद कर दिया मंदाकिनी का एक्टिंग करियर

इस पर के के मेनन ने उनसे कहा कि वह किसी भी तरह का रोल करने के लिए तैयार हैं। के के मेनन के जुनून को देखते हुए नसीरुद्दीन शाह ने उन्हें एक छोटा सा रोल दिया था। इसके बाद के के मेनन नियमित रूप से नाटकों का हिस्सा बनने लगे।

लेकिन नाटक गांधी माई फादर उनके लिए जीवन बदलने वाला क्षण बन गया। इस नाटक में नसीर साहब ने गांधीजी की भूमिका निभाई थी और उनके बड़े बेटे हीरालाल ने के के मेनन की भूमिका निभाई थी। के के मेनन की इस अदा को देखकर कई लोग प्रभावित हुए थे.

यह भी पढ़ें: शक्ति कपूर को दर्जी बनाना चाहते थे उनके पिता, जानिए उनसे जुड़ी ये दिलचस्प बातें

बाद में इस नाटक पर एक फिल्म भी बनी। जिसका नाम गांधी माई फादर था। इस फिल्म में अक्षय खन्ना हीरालाल के किरदार में नजर आए थे।

के के मेनन को हीरालाल के किरदार के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ा और उन्हें भोपाल गैस त्रासदी पर बनी फिल्म भोपाल एक्सप्रेस से डेब्यू करने का मौका मिला।

,

Source link

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here