जब इस फिल्म के लिए राज कपूर का ऑफर सुनकर हेमा मालिनी चुपके से स्टूडियो से भाग गईं

raj_kappor_hema1.jpg

नई दिल्ली: बॉलीवुड की ड्रीमगर्ल हेमा मालिनी ने हिंदी सिनेमा में अपने करियर की शुरुआत शोमैन राज कपूर से की थी। दोनों 1968 में आई फिल्म ‘सपनो का सौदागर’ में साथ नजर आए थे। यह फिल्म नहीं चली, लेकिन हेमा को राज कपूर का अंदाज पसंद आया। इसलिए हेमा उनके साथ और भी आगे काम करना चाहती थीं। यह जानकर राज कपूर ने हेमा मालिनी को आश्वासन दिया था कि जब भी उनकी फिल्मों में हेमा के योग्य भूमिका होगी, वह उन्हें जरूर ऑफर करेंगे।

इसके बाद जब राज कपूर ने फिल्म ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ बनाने की सोची। जिसमें अभिनेता और अभिनेत्री के लिए सबसे पहले जो नाम आया वह हेमा मालिनी और राजेश खन्ना का था। जब राज साहब ने हेमा मालिनी को यह ऑफर दिया तो वह खुश हो गईं।

हेमा_2.jpg

इसके बाद अगले ही दिन राज कपूर हेमा को स्क्रीन टेस्ट के लिए आरके के पास ले गए। का। स्टूडियो में बुलाया और हेमा भी पहुंच गईं। जब राज कपूर ने हेमा मालिनी को इस फिल्म में रूपा के किरदार की रूपरेखा और वेशभूषा के बारे में बताया तो हेमा दंग रह गईं और उनके हाथ-पैर फूल गए।

हेमा.jpg

फिल्म ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ में रूपा का किरदार अपने जमाने में काफी बोल्ड और बोल्ड था। जिसके लिए हेमा मालिनी तैयार नहीं थी, लेकिन वह सीधे राज कपूर के साथ ऐसा नहीं कर सकीं।

शशि_कपूर.jpg

जब राज साहब ने हेमा मालिनी को रूपा का किरदार पहनकर कैमरे के सामने आने को कहा तो हेमा ड्रेसिंग रूम में चली गईं लेकिन चुपचाप भाग गईं। काफी देर के बाद भी जब हेमा बाहर नहीं आई तो राज कपूर समझ गए कि हेमा यह किरदार नहीं करना चाहती। इसके बाद राज कपूर ने इस रोल के लिए जीनत अमान को चुना।

यह भी पढ़ें:…जब श्रीदेवी ने इस वजह से रखा था रजनीकांत के लिए 7 दिन का उपवास

.

Source link

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here