क्रिएटिनिन लेवल को कम करने इन फाइबर और विटामिन युक्त फलों का करें सेवन

क्रिएटिनिन लेवल को कम करने इन फाइबर और विटामिन युक्त फलों का करें सेवन

क्रिएटिनिन लेवल को कम करने इन फाइबर और विटामिन युक्त फलों का करें सेवन

किसी भी व्यक्ति के ब्लड और यूरिन में पाए जाने वाला वेस्ट मटेरियल को क्रिएटिनिन कहते है। दरअसल किडनी क्रिएटिनिन को ब्लड से निकालती है और वेस्ट प्रोडक्ट को यूरिन के माध्यम से शरीर से बाहर निकालने में सहायता करती है। लेकिन कई बार यह लेवल बढ़ जाता है। इस कारण कई प्रकार की समस्याएं हो जाती है। इसलिए आपको क्रियटिनिन लेवल कंट्रोल में रखना जरूरी होता है।

क्रिएटिनिन लेवल बढ़ने से कई प्रकार की गंभीर बीमारियां हो सकती है। दरअसल, जब मेटाबोलिज्म में प्रक्रिया द्वारा भोजन ऊर्जा में बदलता है। तो एक अन्य पदार्थ क्रिएटिनिन का निर्माण होता है। जिसे किडनी रक्त को छानकर यूरिन के माध्यम से बाहर निकालती है। लेकिन यदि क्रिएटिनिन का लेवल हाई होता है। तो यह प्रक्रिया बाधित होती है। जिससे किडनी भी प्रभावित होने लगती है। क्रिएटिनिन का बढ़ा हुआ लेवल किडनी संबंधित समस्याओं की ओर इशारा करता है। अगर आपका लेवल भी बढ़ा हुआ है। तो इसे कंट्रोल में कीजिए। ताकि किडनी से संबंधित किसी प्रकार की समस्या आपको नहीं हो।

हम आपको क्रिएटिनिन लेवल कंट्रोल में रखने के कुछ उपाय बताने जा रहे हैं। जिसके तहत आप अपनी डाइट में सोडियम का सेवन कम से कम मात्रा में करें। क्योंकि अधिक सोडियम के कारण हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी होती है और इन दोनों वजह से क्रिएटिनिन का लेवल हाई हो जाता है। अगर कम नहीं तो आपके सोडियम लेने के रोज के लेवल को दो से 3 ग्राम के बीच ही रहना चाहिए।

क्रिएटिनिन लेवल कंट्रोल में रखने के लिए आपको प्रोटीन से भरपूर फ्रूट्स खाने से बचना चाहिए। रेड मीट और डेयरी प्रोडक्ट आपके लिए नुकसान दायक साबित हो सकते हैं। जब आप प्रोटीन का सेवन करते हैं।

क्रिएटिनिन लेवल को कम करने के लिए वेजिटेरियन डाइट लेनी चाहिए। इसके साथ ही बेरी, लेमन जूस आदि विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ भी खाएं।

डायबिटीज के साथ ही हाई ब्लड प्रेशर भी किडनी को नुकसान पहुंचाता है। इस कारण ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने से किडनी को और नुकसान नहीं होता है। साथ ही क्रिएटिनिन के लेवल को कम करने में भी मदद मिलती है।

नींद के दौरान शारीरिक कार्य धीमा या कमजोर पड़ जाता हैं। इसलिए रोजाना 7 से 8 घंटे की पर्याप्त नींद लेना चाहिए।

जब आपका शरीर काफी एक्सरसाइज करता है। तो यह काफी तेजी से फूड को एनर्जी में बदलने लगता है। इस कारण से ज्यादा क्रिएटिनिन बनता है और ब्लड में क्रिएटिनिन की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए रनिंग वेटलिफ्टिंग या बास्केटबॉल खेलने के बजाय आप योगा प्रैक्टिस या वॉक करें।

क्रिएटिनिन लेवल बढ़ जाने पर पर्याप्त मात्रा में पानी पिए। इससे आपका शरीर हाइड्रेट रहेगा और शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। इसी के साथ क्रिएटिनिन लेवल को कंट्रोल करने के लिए आप डाइट में पपीता, सेब, अनार, हरी सब्जियां आदि खाएं। क्योंकि अधिक से अधिक विटामिंस और फाइबर युक्त फलों का सेवन करना आपके लिए लाभदायक रहता है। इसी के साथ ही क्रिएटिनिन की मात्रा को लेवल करने के लिए सफेद नमक की जगह आप सेंधा नमक का सेवन करें। किडनी को हेल्दी रखने के लिए आप जीरा, धनिया का सेवन कर सकते हैं और गर्मी के मौसम में बेल का गूदा या बेल का जूस का भी सेवन आपके लिए लाभदायक रहेगा।

यह जानकारी हमने सामान्य जानकारी के आधार पर दी है। अगर आपको किसी प्रकार की दिक्कत या एलर्जी है। तो आप चिकित्सक से भी सलाह ले सकते हैं। उन्हें भी दिखा सकते हैं।


Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here