क्या आप जानते हैं कंडोम की भी होती है एक्सपायरी डेट? ऐसे चेक करें

condom expirey date

अब खबरों के साथ-साथ relaxation video का आनंद लें पूरा वीडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें Like-Subscribe करना ना भूलें।

[embed]https://youtu.be/SCoMcTQ4Ss4[/embed]

सिंथेटिक मैटेरियल से बने कंडोम्स की लाइफ प्राकृतिक मैटीरियल से बने कंडोम्स से कहीं ज्यादा उम्र वाले होते हैं. आम तौर पर ऐसे कंडोम लगभग 4-5 सालों तक सुरक्षित रखे जा सकते हैं. वहीं नैचुरल मैटेरियल से बने कंडोम के जल्दी खराब होने का खतरा बना रहता है.

एक्सपायरी डेट ऑफ कंडोम (Photo Credit: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली:

यौन रोगों और अनचाहे गर्भाधारण से बचने के लिए हम कंडोम का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन कंडोम से जुड़ी बहुत सी बातें हैं जिसके बारे में बहुत कम लोगों को ही पूरी जानकारी होगी. आपको बता दें कि अभी तक कुछ लोगों को तो इस बात की भी जानकारी नहीं है कि कंडोम की एक्सपायरी डेट होती है क्या? और अगर किसी ने एक्सपायरी डेट के बाद वाला कंडोम इस्तेमाल कर लिया तो उसे किन समस्याओं का सामना करना होगा या फिर कंडोम अगर एक्सपायरी डेट क्रास कर चुका हो तो उसे यूज करना सही रहेगा या नहीं. 

सबसे पहले हम आपको बता दें कि जैसे हम मेडिकल स्टोर से किसी भी दवा या अन्य मेडिकल इंस्ट्रूमेंट को लेकर उसकी एक्सपायरी डेट जरूर चेक करते हैं वैसे ही हमें कंडोम की एक्सपायरी डेट भी चेक करनी चाहिए. जब आप कंडोम खरीद रहे होते हैं तो आपको इसके पैकेट पर एक्सपायर होने की डेट या फिर यूज बिहोर जरूर देख लेना चाहिए. यहां हम आपको ये भी बता दें कि एक्सपायरी डेट के अलावा भी कुछ ऐसे कारक हैं जिनकी वजह से कंडोम जल्दी खराब हो जाते हैं. 

बहुत से लोग कंडोम को अपनी पर्स में रखते हैं और काफी दिनों तक इसका उपयोग भी नहीं करते हैं. आपको बता दें कि अगर किसी कंडोम को वॉलेट में रखा जाए तो लगातार इसके फ्रिक्शन की वजह से इसके खराब होने का खतरा बना रहता है और इसके जल्दी खराब होने के चांसेज रहते हैं. इसके अलावा कंडोम को रखने वाली जगहों पर तापमान का भी प्रभाव पड़ता है अगर कंडोम को ज्यादा गर्मी वाली जगह पर रखते हैं तो इसकी क्वालिटी पर असर पड़ता है. 

सिंथेटिक मैटेरियल से बने कंडोम्स की लाइफ प्राकृतिक मैटीरियल से बने कंडोम्स से कहीं ज्यादा उम्र वाले होते हैं. आम तौर पर ऐसे कंडोम लगभग 4-5 सालों तक सुरक्षित रखे जा सकते हैं. वहीं नैचुरल मैटेरियल से बने कंडोम के जल्दी खराब होने का खतरा बना रहता है. अगर कंडोम बनाते समय उसमें स्पर्मीसाइड केमिकल का का प्रयोग किया गया है तो उसकी शेल्फ लाइफ कम हो जाती है. अतः ऐसे में आप कंडोम खरीदते समय इस बात का पूरा ध्यान रखें. 

बहुत से लोगों में इस बात को लेकर भी दुविधा बनी रहती है कि अगर वो एक्सपायर कंडोम का इस्तेमाल कर लें तो क्या खतरा हो सकता है, तो ऐसे लोगों के लिए बता दें कि सबसे पहले तो एक्सपायर कंडोम ही नहीं किसी भी एक्सपायर चीज का इस्तेमाल कभी नहीं करना चाहिए ये बिना मतलब के आपको मुश्किल में डाल सकता है. कंडोम की एक्सपायरी डेट निकल जाने के बाद उसका मटीरियल कमजोर होने लग जाता है, जिससे ऐसे कंडोम का इस्तेमाल करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है. इस्तेमाल के दौरान अगर कंडोम फट जाए तो आपको कई खतरनाक यौन बीमारियों का सामना कर पड़ सकता है, जिसमें एड्स जैसी लाइलाज बीमारी भी शामिल है.  

संबंधित लेख



First Published : 20 Nov 2020, 06:27:33 PM

For all the Latest Lifestyle News, Relationship News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here