किस उम्र में बच्चों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना जरूरी है?

कोरोना से बचाव के लिए किस उम्र के बच्चों को मास्क पहनना है ज़रूरी?

महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनना जरूरी है, लेकिन यह जानना बेहद जरूरी है कि बच्चों को किस उम्र के बाद मास्क पहनना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, 5 साल से कम उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए।

कोरोना महामारी हालांकि वायरस की दूसरी लहर कमजोर होती दिख रही है, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। क्योंकि हर दिन मिलने वाले कोरोना के नए रूप देश ही नहीं पूरी दुनिया की टेंशन बढ़ा रहे हैं. इस बीच, तीसरी लहर के बारे में विशेषज्ञों की बार-बार चेतावनी, जो कहती है कि बच्चों को अधिक खतरा है, सभी की चिंता को बढ़ा रहा है। हालांकि ऐसे समय में डरने की नहीं बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है और कोरोना से बचने का सबसे जरूरी हथियार है मास्क, इसलिए खुद भी मास्क पहनें और बच्चों को इसे ठीक से पहनना सिखाएं.

महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनना जरूरी है, लेकिन यह जानना बेहद जरूरी है कि बच्चों को किस उम्र के बाद मास्क पहनना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, 5 साल से कम उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए। 6 से 11 वर्ष की आयु के बच्चों को मास्क पहनना आवश्यक है, लेकिन माता-पिता को उनकी मदद करनी चाहिए, जैसे मास्क को ठीक से लगाना और उतारना। 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को वयस्कों की तरह ही मास्क पहनने की सलाह दी जाती है।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बाद शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए अपनाएं ये टिप्स tips

बच्चों को बताए मास्क पहनने के नियम

मास्क पहनने से असुविधा होती है, ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि बच्चों को मास्क पहनने के नियमों के बारे में बताना बहुत जरूरी है और यह क्यों जरूरी है। क्योंकि आज के समय में मास्क सबसे जरूरी चीज है। बच्चे को बताएं कि मास्क पहनने से रोग पैदा करने वाले कीटाणु आपके मुंह और नाक के जरिए शरीर में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। इससे वे और अन्य भी सुरक्षित रहेंगे। बच्चा कुछ भी पूछे तो उसकी शंका दूर करें।

कार्टून मास्क

महामारी की दूसरी लहर से बचने के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ भी डबल मास्क लगाने की सलाह दे रहे हैं, ऐसे में बच्चों को सर्जिकल मास्क पहनने के बाद ऊपर से कपड़े का मास्क पहनाएं, जिस पर कार्टून या हाथ से बना मास्क लगा हो। खुद कोई डिजाइन आदि बना ली है। इससे बच्चे की मास्क के प्रति रुचि बढ़ेगी, साथ ही उन्हें मास्क लगाने और उतारने का सही तरीका भी सिखाया जाएगा।

अपना खुद का मुखौटा पहनें

बच्चे अपने माता-पिता को देखकर सीखते हैं, ऐसे में जब वे आपको हमेशा मास्क पहने देखेंगे तो वे खुद इस नियम का पालन करने लगेंगे। इसलिए कुछ देर के लिए भी घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनें और आने के बाद ठीक से उतारकर हाथ धो लें। ऐसा करने से बच्चा भी बिना ज्यादा सवाल पूछे इस नियम का पालन करने लगेगा।

यह भी पढ़ें: जानिए क्या है डी-डिमर टेस्ट और क्यों दे रहे हैं कोरोना के मरीज इस टेस्ट को प्राथमिकता

कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क के साथ-साथ इन नियमों का पालन करना जरूरी

मास्क पहनने के साथ ही बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने को कहें।

– नाक और मुंह को मास्क से अच्छी तरह ढककर रखना चाहिए।

ध्यान रखें कि मास्क की ऊपरी सतह को न छुएं।

किसी बाहरी सतह या वस्तु को छूने के बाद हाथ धोने के लिए कहें।

अगर हाथ धोना कभी संभव नहीं है, तो सैनिटाइज़र का उपयोग करने के लिए कहें।

– कंचन सिंह

अस्वीकरण: इस लेख में सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और सूचनाओं को डॉक्टर या चिकित्सा पेशेवर की सलाह के रूप में न लें। किसी भी बीमारी के लक्षण होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

.

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here