इन सेक्टरों में नौकरियों के लिए देशभर में 2 लाख पद खाली, दुनियाभर में 60 लाख प्रोफेशनल्स की जरूरत

इन सेक्टर्स में जॉब के लिए देशभर में 2 लाख पद खाली, दुनियाभर में 60 लाख पेशेवरों की जरूरत

विनिर्माण क्षेत्र में अधिकतम एक लाख रिक्तियां।
– निर्माण, व्यापार, परिवहन, शिक्षा, निर्माण, स्वास्थ्य, रेस्टोरेंट, आईटी-बीपीओ और वित्तीय सेवाओं के प्रमुख क्षेत्रों में 1,87,062 पद खाली हैं।

नई दिल्ली । एक तरफ देश में बेरोजगारी की दर बढ़ी है। वहीं, कृषि को छोड़कर चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में देश के 9 प्रमुख क्षेत्रों में रिक्तियां करीब 2 लाख थीं। तिमाही रोजगार सर्वेक्षण के आंकड़ों के मुताबिक जून तिमाही में निर्माण, व्यापार, परिवहन, शिक्षा, निर्माण, स्वास्थ्य, रेस्टोरेंट, आईटी-बीपीओ और वित्तीय सेवाओं के प्रमुख क्षेत्रों में 1,87,062 पद खाली रहे। इन सेक्टरों में 3.08 करोड़ लोग काम करते हैं।

इनमें से आधे से अधिक रिक्तियों के लिए विनिर्माण क्षेत्र का योगदान है। इस सेक्टर में 99,429 रिक्तियां भरी जानी हैं। इस सेक्टर की करीब 4.5 फीसदी कंपनियों ने पदों को खाली घोषित किया। वहीं आईटी-बीपीओ सेक्टर की 4.5 फीसदी कंपनियों में पद खाली हैं। कोर सेक्टर में ये रिक्तियां इस्तीफे, सेवानिवृत्ति, कुशल श्रमिकों की अनुपलब्धता के कारण हैं। देश में 3.6 फीसदी कंपनियों में पद खाली हैं।

आईटी पेशेवरों की दुनिया भर में कमी
भारत सहित दुनिया भर में आईटी पेशेवरों की मांग सर्वकालिक उच्च स्तर पर है। पलायन दर भी चरम पर है। टैलेंट फर्म मैकिन्से की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत, अमेरिका, चीन और 5 अन्य बड़े यूरोपीय देशों में डिजिटल टैलेंट की भारी मांग है। इन 8 देशों में 60 लाख से ज्यादा आईटी प्रोफेशनल्स की कमी है।

पहली तिमाही में इन 9 कोर सेक्टरों में खाली थे पद –
सेक्टर – कुल रिक्तियां
निर्माण – 99,429
शिक्षा – 36,600
परिवहन – 26,500
व्यापार – 8,400
स्वास्थ्य – 5,900
निर्माण – 3,400
रेस्टोरेंट – 3,000
आईटी-बीपीओ – ​​2,800
वित्तीय सेवाएं – 700

उत्तर पूर्व : शीर्ष पद पर सबसे अधिक महिलाएं-
आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण के आंकड़ों के अनुसार, देश के पूर्वोत्तर राज्यों में प्रबंधक स्तर के पदों पर कार्यरत महिलाओं की संख्या सबसे अधिक है। इन राज्यों में मेघालय अव्वल इसके बाद सिक्किम और मिजोरम का स्थान है। चौथे नंबर पर आंध्र प्रदेश और पांचवें नंबर पर पंजाब है।

यहां महिलाएं हैं अव्वल-
राज्य – उच्च पद पर महिलाएं
मेघालय 34.1%
सिक्किम 33.5%
मिजोरम 33.3%
आंध्र प्रदेश 32.3%
पंजाब 32.1%

ये राज्य पिछड़े हैं
उत्तराखंड 11.7%
अंडमान 9%
हरियाणा 7.5%
असम 6.9%

(पीएलएफएस डेटा)








.

Source link

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here