आयुर्वेद में इन 6 चीजों को माना गया है सुपरफूड, हेल्दी रहने के लिए डाइट में जरूर करें शामिल 

DA Image

आप स्वस्थ रहने के लिए कितने ही सप्लीमेंट्स लेते हैं या फिर कई लोग विटामिन्स की गोलियां भी खाते हैं लेकिन ऐसी चीजों के लम्बे समय तक इस्तेमाल से परेशानियां हो सकती है। आज हम आपको ऐसी चीजें बता रहे हैं, जिन्हें आयुर्वेद के अनुसार सुपरफूड्स माना जाता है। आप कितनी ही हेल्दी डाइट का सेवन क्यों न करें लेकिन इन चीजों के बिना आपकी इम्युनिटी स्ट्रॉन्ग नहीं हो सकती। आइए, जानते हैं कौन-से हैं वे सुपरफूड्स- 

देसी घी
आयुर्वेद देसी घी को सुपरफूड के तौर पर मान्यता देता है। आयुर्वेद के अनुसार देसी घी का सेवन शरीर के लिए बहुत जरूरी है। पाचन तंत्र को बेहतर करने के साथ शरीर से विषाक्त पादर्थों को भी बाहर करने का काम करता है।

 

हल्दी 
एक बढ़िया एंटीऑक्सिडेंट होने से लेकर एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल जैसे गुण होने के कारण हल्दी को अपने दैनिक आहार में शामिल करने के लिए आपके पास कई कारण हैं। प्राचीनकाल से ही आयुर्वेद में हल्दी का उपयोग काफी दवाओं में किया जाता रहा है।

 

गुनगुना पानी
सुबह खाली पेट गुनगुना पानी पीने के कई फायदे हैं। इससे न सिर्फ आपका पेट साफ रहता है बल्कि इससे आपकी बॉडी भी डिटॉक्स होती है। स्किन को प्राकृतिक रूप से सुंदर बनाने के लिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल करना चाहिए। 

 

दूध 
आयुर्वेद के अनुसार गर्म दूध का सेवन ही सेहत के लिए फायदेमंद है। ठंडा दूध पचने में थोड़ा कठिन होता है। रात में सोने से पहले गुनगुना या गर्म दूध पीने से अच्छी नींद के साथ पाचन तंत्र भी ठीक रहा है।

 

नींबू
नींबू हमारे शरीर के पीएच लेवल को सही स्तर पर बनाए रखने में मददगार होता है। वहीं नींबू में आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, पोटैशियम और जिंक जैसे मिनरल होते हैं, जो शरीर की अलग-अलग जरूरतों को पूरा करते हैं।
 

 

अदरक 
इंफेक्शन से बचने और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए अदरक का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। अदरक का सेवन पाचन तंत्र को बेहतर करने के साथ महिलाओं को मासिक धर्म के दर्द से भी छुटकारा दिलाने का काम करता है।

Source link