अब वैक्सीन की लगेगी सिंगल डोज, J&J की कोरोना वैक्सीन को मिली मंजूरी

Corona Vaccine

कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीन की मंजूरी का दायरा बढ़ता जा रहा है. WHO की ओर से जॉनसन एंड जॉनसन की कोविड-19 वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे दी गई है. यह वैक्सीन सिंगल डोज पर आधारित है.

अब वैक्सीन की लगेगी सिंगल डोज, J&J की कोरोना वैक्सीन को मिली मंजूरी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को मिली मंजूरी
  • वैक्सीन दुनिया की पहली सिंगल डोज पर आधारित है
  • डब्ल्यूएचओ ने दी वैक्सीन को मंजूरी

वॉशिंगटन:

विश्व में कोरोना के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ने लगे हैं. इसी बीच एक और कोरोना वैक्सीन को डब्ल्यूएचओ ने मंजूरी दी है. खास बात यह है कि यह वैक्सीन दुनिया की पहली सिंगल डोज आधारित वैक्सीन है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. इससे संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय वैक्सीन वितरण कार्यक्रम के तहत सिंगल डोज का रास्ता साफ हो गया है. कमजोर नियामक एजेंसी वाले देशों में इस्तेमाल को तेज करने की स्वीकृति पर WHO ने अपनी मुहर लगा दी.

जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूर
WHO प्रमुख डॉक्टर टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसुस ने बयान में कहा, “महामारी को काबू करने के लिए कोविड-19 के खिलाफ हर नया, सुरक्षित और प्रभावी टूल एक कदम और करीब है. लेकिन उन टूल से मिलनेवाली उम्मीद उस वक्त तक साकार नहीं होंगी जब तक कि सभी देशों में सभी लोगों तक मुहैया न हो. मैं सरकारों और कंपनियों का अपनी प्रतिबद्धता पर खरा उतरने और उत्पादन में तेजी लाने के लिए सभी हल इस्तेमाल करने का आह्वान करता हूं, जिससे ये टूल वास्तव में वैश्विक जन सामान, मुहैया और सभी के लिए किफायती और वैश्विक संकट में साझा हल बन सके.”

यह भी पढ़ेंः Grammy में भी छाया किसान आंदोलन, लिली सिंह ने पहना खास मास्क

कोरोना वायरस के खिलाफ एक डोज पर आधारित है कोविड वैक्सीन
WHO का समर्थन प्राप्त फाइजर-बायोएनटेक और एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड की दो डोज वाली वैक्सीन के बाद ये तीसरी कोविड-19 वैक्सीन है और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन पहली कोविड-19 वैक्सीन एक डोज पर आधारित है. रिपोर्ट के मुताबिक, WHO से हरी झंडी यूरोपीय यूनियन के डोज की मंजूरी के एक दिन बाद मिली है. मंजूरी के बाद कंपनी दुनिया भर के गरीब और विकासशील देशों को संयुक्त राष्ट्र के कोवैक्स कार्यक्रम के तहत जुलाई तक 50 करोड़ अतिरिक्त डोज मुहैया करा सकेगी.

यह भी पढ़ेंः कोरोना की दूसरी लहर – जुलाई के बाद एक हफ्ते में बढ़े 33 फीसद केस  

जॉनसन एंड जॉनसन की तरफ से शेयर किए गए मानव परीक्षण के पर्याप्त डेटा बताते हैं कि वैक्सीन सुरक्षित है. इसकी कोविड-19 वैक्सीन को मॉर्डना और फाइजर की कोविड-19 वैक्सीन पर बढ़त हासिल है. दावा है कि जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को फ्रिज के सामान्य तापमान पर 3 महीने तक सुरक्षित रखा जा सकता है. इस लिहाज से, उसका वितरण और भंडारण करना ज्यादा आसान रहेगा. WHO अगले सप्ताह उसके इस्तेमाल पर सिफारिश की रूप रेखा बनाने के लिए टीकाकरण विशेषज्ञों के अपने रणनीतिक सलाहकार समूह की बैठक बुलाने जा रहा है.



संबंधित लेख

First Published : 15 Mar 2021, 01:07:31 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here