WTC Final खेलते ही बदल जाएगा भरतीय क्रिकेट का इतिहास, 89 साल में पहली बार होगा ऐसा, टूट जाएगी परंपरा

team_india_2.png

भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से इंग्लैंड के साउथैंप्टन में डब्ल्यूटीसी का फाइनल खेला जाएगा। यह मैच रोज बाउल में होगा, जो दोनों देशों के लिए तटस्थ स्थल है।

टीम इंडिया अगले महीने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप खेलने के लिए इंग्लैंड जाने वाली है। हालांकि टेस्ट मैच खेलने वाली 12 टीमों से सिर्फ भारत और बांग्लादेश की टीमें ही ऐसी हैं, जिन्होंने अभी तक तटस्थ स्थल (Neutral Venue) पर कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है। हालांकि अब भारत की यह परंपरा जल्द ही टूटने वाली है। दरअसल, भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से इंग्लैंड के साउथैंप्टन में डब्ल्यूटीसी का फाइनल खेला जाएगा। यह मैच रोज बाउल में होगा, जो दोनों देशों के लिए तटस्थ स्थल है। इसी के साथ लगभग 89 वर्ष के टेस्ट इतिहास में तटस्थ स्थल पर भारत का यह पहला टेस्ट मैच होगा।

न्यूजीलैंड खेल चुकी है तटस्थ स्थानों पर मैच
वहीं पाकिस्तान की बात करें तो सुरक्षा खतरे को देखते हुए विदेशी टीमों ने एक दशक से भी अधिक समय से पाकिस्तान का दौरा नहीं किया। वहीं पाकिस्तान ने भी श्रीलंका और यूएई में ही अपने घरेलू मैचों का आयोजन किया। ऐसे में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट खेलने वाली ज्यादातर टीमों को तटस्थ स्थल पर खेलने का मौका मिला। न्यूजीलैंड की टीम भी इसमें शामिल है। न्यूजीलैंड ने वर्ष 2014 से लेकर 2018 तक तटस्थ स्थलों पर छह मैच खेले हैं। वहीं भारत और पाकिस्तान के बीच वर्ष 2007 के बाद कोई टेस्ट मैच नहीं खेला गया है।

यह भी पढ़ें— WTC फाइनल में भारत शानदार प्रदर्शन कर सकता है, काउंटी का अनुभव काम आएगा: विहारी

22 साल पहले टीम इंडिया को मिला था मौका
टीम इंडिया को 22 साल पहले तटस्थ स्थल पर टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला था। दरअसल, वर्ष 1999 में भारतीय क्रिकेट टीम को यह मौका मिला था लेकिन तब टीम इंडिया एशियाई टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में नहीं पहुंच पाई थी। यह मैच ढाका में खेला गया था। उस चैंपियनशिप के फाइनल में पाकिस्तान और श्रीलंका फाइनल में पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें— WTC Final और टेस्ट सीरीज के लिए लंदन पहुंची न्यूजीलैंड की टीम

पाकिस्तान ने खेले तटस्थल स्थल पर सर्वाधिक मैच
वहीं तटस्थ स्थल पर सर्वाधिक मैच खेलने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के नाम है। पाकिस्तान की टीम ने पिछले 20 वर्षो में अपने अधिकतर घरेलू मैच यूएई में खेले हैं। यही कारण है कि तटस्थ स्थल पर सर्वाधिक टेस्ट खेलने का रिकॉर्ड उसी के नाम पर दर्ज है। बता दें कि पाकिस्तान ने तटस्थ स्थल पर अब कुल 39 टेस्ट खेले हैं। इनमें उसे 19 में जीत हासिल हुई, 12 में हार और आठ मैच ड्रॉ रहे।


Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here