UGC NET: 03 मार्च तक कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन ये हैं जरूरी बातें

पर्सनेलिटी डवलपमेंट के लिए आजमाएं ये टिप्स तो हमेशा होंगे कामयाब

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA), यूजीसी-नेट परीक्षा का आयोजन करती है। ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 03 मार्च, 2021 है।

एनटीए द्वारा जूनियर रिसर्च फेलोशिप और असिस्टेंट प्रोफेसर की पात्रता के लिए आगामी यूजीसी नेट की परीक्षा दिनांक 2 से 17 मई, 2021 के मध्य आयोजित होगी। इसमें मुख्य रूप से दो प्रश्न-पत्र शामिल होंगे। पहला, प्रश्न-पत्र 100 अंकों का होगा, जिसमें 50 बहु वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाएंगे। ये टीचिंग और रिसर्च एप्टीट्यूड पर आधारित होंगे। वहीं द्वितीय प्रश्न-पत्र 200 अंकों का होगा, जिसमें 100 बहुवैकल्पिक प्रश्न विषय से जुड़े पूछे जाएंगे। https://ugcnet.nta.nic.in/ या https://nta.ac.in/ वेबसाइट पर जाकर परीक्षा संबंधी अन्य जानकारी ले सकते हैं। जानें परीक्षा से जुड़ी अन्य अहम बातें-

पेपर्स को समझें
परीक्षा में पेपर-1 में रिसर्च एबिलिटी, रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, डायवर्जेंट थिंकिंग और जनरल अवेयरनेस संबंधी सवाल पूछे जाते हैं। पेपर-। और पेपर-।। दोनों में भाषा का माध्यम हिंदी और अंग्रेजी होगा। इनमें किसी प्रकार की कोई निगेटिव मार्किंग नहीं की जाएगी। इसलिए ध्यान दें कि सभी सवालों को अटेम्प्ट करें। पेपर में यदि सवाल ही गलत आया हो और यदि कैंडिडेट ने उसे अटेम्प्ट किया है तो उसके पूरे अंक मिलेंगे।

फेलोशिप
NFSC (नेशनल फेलोशिप फॉर शेड्यूल कास्ट), NFOBC (नेशनल फेलोशिप फॉर अदर बैकवर्ड क्लास) व MANF (मौलाना आजाद नेशनल फेलोशिप) के तहत फेलोशिप दी जाएगी।

अनिवार्य है पीएच.डी. योग्यता
यूजीसी के अनुसार विश्वविद्यालयों में जुलाई 2021 से असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए नेट के अतिरिक्त पीएच.डी. अनिवार्य होगी।

जानिए बाकी डिटेल्स भी
JRF के लिए अधिकतम उम्र 31 वर्ष है। यह आयु, जिस माह में परीक्षा आयोजित होगी, उस माह की पहली तारीख को होनी चाहिए। इसमें यूजीसी के नियमों के अनुसार आयु सीमा में छूट का प्रावधान भी है। वहीं असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए कोई अधिकतम उम्र नहीं है। इसके अलावा असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए नेट की वैलिडिटी की कोई सीमा नहीं है। जेआरएफ में सर्टिफिकेट इश्यू होने के 3 साल बाद तक स्कोर कार्ड वेलिड रहेगा। पोस्ट ग्रेजुएशन के प्रथम वर्ष में अध्ययनरत स्टूडेंट भी इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। 81 विषयों में नेट आयोजित की जाएगी। ऐसे में कैंडिडेट अपने ही विषय में आवेदन कर सकते हैं। लेकिन ऐसी स्थिति जिसमें यदि कोई विषय इसमें नहीं है तो कैंडिडेट उस विषय से संबंधित विषय को चुन सकता है।

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here