Samsung और OnePlus भारत में ही बनाएंगी टीवी

Facebook


 दिग्गज टेक कंपनी Samsung और OnePlus ने भारत में ही ज्यादातर टीवी निर्माण करने का फैसला किया है। इसके लिए  Samsung और OnePlus ने चीन की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी Skyworth के साथ साझेदारी की है। हैदराबाद स्थित फैसिलटी सेंटर में टीवी मैन्युफैक्चरिंग होगी। Samsung भारत का सबसे बड़ा टेलिविजन ब्रैंड है। साथ ही वनप्लस में पिछले साल भारतीय टेलीविजन मार्केट में जोर शोर से एंट्री मारी है। वनप्लस में हाल ही में प्रीमियम टीवी की नई रेंज पेश की है।

Samsung ने बताया कि भारत में बेचे जाने वाले 85-90 फीसदी टेलिविजन का निर्माण अब भारत में ही किया जाएगा। सैमसंग और वनप्लस के अलावा LG, Sony, Xiaomi, और Panasonic जैसी कंपनियां पहले से ही भारत में टीवी बना रही हैं। दोनों कंपनियों के मुताबिक भारत में टीवी निर्माण से उनके खर्च में कटौती हो सकेगी साथ ही टीवी निर्माण में तमाम आने वाले मुख्य कंपोनेंट- ओपन सेल टीवी पैनल पर भारत में लगने वाली जीरो इंपोर्ट ड्यूटी का फायदा भी मिलेगा। इसके अलावा कंपनियों को सप्लाई चैन की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा।भारत सरकार लंबे वक्त से मोबाइल, टीवी की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट भारत में स्थापित करने पर जोर देती रही. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की केंद्र सरकार ने अपनी इसी रणनीति के तहत साल 2018 में ओपन-सेल टीवी पैनल पर इंपोर्ट ड्यूटी लगाई थी। इस वजह से सैमसंग ने देश में अपने टीवी प्रॉडक्शन को रोक दिया था। तब से कंपनी वियतनाम से तैयार टीवी को जीरो ड्यूटीज पर आयात कर रही है। लेकिन 2019 में भारत सरकार ने ओपन सेल पैनल पर इंपोर्ट ड्यूटी जीरो कर दी, तो अब सैमसंग और वनप्लस ने भारत में टीवी बनाने का फैसला किया है। गौरतलब है कि ओपन सेल टीवी के LCD पैनल का जरूरी पार्ट होता है। टीवी निर्माण की लागत का 70 फीसदी हिस्सा इसी पर खर्च होता है।

 दिग्गज टेक कंपनी Samsung और OnePlus ने भारत में ही ज्यादातर टीवी निर्माण करने का फैसला किया है। इसके लिए  Samsung और OnePlus ने चीन की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी Skyworth के साथ साझेदारी की है। हैदराबाद स्थित फैसिलटी सेंटर में टीवी मैन्युफैक्चरिंग होगी। Samsung भारत का सबसे बड़ा टेलिविजन ब्रैंड है। साथ ही वनप्लस में पिछले साल भारतीय टेलीविजन मार्केट में जोर शोर से एंट्री मारी है। वनप्लस में हाल ही में प्रीमियम टीवी की नई रेंज पेश की है।

Samsung ने बताया कि भारत में बेचे जाने वाले 85-90 फीसदी टेलिविजन का निर्माण अब भारत में ही किया जाएगा। सैमसंग और वनप्लस के अलावा LG, Sony, Xiaomi, और Panasonic जैसी कंपनियां पहले से ही भारत में टीवी बना रही हैं। दोनों कंपनियों के मुताबिक भारत में टीवी निर्माण से उनके खर्च में कटौती हो सकेगी साथ ही टीवी निर्माण में तमाम आने वाले मुख्य कंपोनेंट- ओपन सेल टीवी पैनल पर भारत में लगने वाली जीरो इंपोर्ट ड्यूटी का फायदा भी मिलेगा। इसके अलावा कंपनियों को सप्लाई चैन की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा।भारत सरकार लंबे वक्त से मोबाइल, टीवी की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट भारत में स्थापित करने पर जोर देती रही. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की केंद्र सरकार ने अपनी इसी रणनीति के तहत साल 2018 में ओपन-सेल टीवी पैनल पर इंपोर्ट ड्यूटी लगाई थी। इस वजह से सैमसंग ने देश में अपने टीवी प्रॉडक्शन को रोक दिया था। तब से कंपनी वियतनाम से तैयार टीवी को जीरो ड्यूटीज पर आयात कर रही है। लेकिन 2019 में भारत सरकार ने ओपन सेल पैनल पर इंपोर्ट ड्यूटी जीरो कर दी, तो अब सैमसंग और वनप्लस ने भारत में टीवी बनाने का फैसला किया है। गौरतलब है कि ओपन सेल टीवी के LCD पैनल का जरूरी पार्ट होता है। टीवी निर्माण की लागत का 70 फीसदी हिस्सा इसी पर खर्च होता है।