PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020 प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान

PM Garib Kalyan Yojana 2020 प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान

PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020 प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान केंद्र सरकार गरीब कल्याण योजना अभियान की शुरुआत कर रही है. मोदी 20 जून को गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत करेंगे. इस अभियान में 6 राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा को शामिल किया जाएगा. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जून को बिहार के खगड़िया जिले के एक गांव से करेंगे. इसकी जानकारी केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एवं शर्म तथा रोजगार मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने संवाददाता सम्मेलन में दी. केंद्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों को उनके अपने गांव देहात में आजीविका उपलब्ध कराने के लिए अगले 125 दिन में 50000 करोड रुपए के सार्वजनिक कार्य कराने का लक्ष्य रखा है. PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020 के तहत 6 राज्यों के 116 जिले शामिल किए जाएंगे.

PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020

हर जिले में 25000 को लाभ

Pradhan Mantri Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020 के तहत प्रत्येक जिले के कम से कम 25000 मज़दूर इस अभियान में शामिल होंगे. इस तरह से लगभग एक तिहाई प्रवासी मजदूरों को इस अभियान का लाभ मिल सकेगा. गरीब कल्याण रोगजार अभियान के नाम से शुरू होने वाली योजना से मूल रूप से ग्रामीण इलाकों के गरीबों को अधिक लाभ होगा.

गरीब कल्याण रोजगार योजना में यह कार्य करवाए जाएंगे

Pradhan Mantri Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020 के तहत रोजगार के अवसरों को बढ़ाने के साथ ही स्थाई बुनियादी ढांचा तैयार किया जाएगा. इस अभियान के तहत होने वाले कार्यों में तालाब बनाना, दीवार बनाना, पशुपालन के लिए आवास बनाना, स्थानीय सड़कों और पुलों का निर्माण करना आदि कार्य शामिल है.

12 विभिन्न मंत्रालय और विभागों में होंगे कार्य

सरकार के अनुसार यह अभियान 125 दिनों का होगा जो मिशन में चलेगा. इसमें 25 तरह के कामों की लिस्ट बनाई गई है जिसके अंतर्गत घर लौटे मजदूरों को काम दिया जाएगा. PM Garib Kalyan Rojgar Yojana 2020 में 12 विभिन्न मंत्रालयों और विभागों – ग्रामीण विकास, पंचायती राज्य, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, खान, पेयजल और स्वच्छता, पर्यावरण, रेलवे, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा, सीमा सड़क, दूरसंचार और कृषि के कार्य शामिल होंगे.