Honda के 11 प्लांट में हुआ साइबर अटैक

Facebook


जापानी कार निर्माता कंपनी Honda के भारत, तुर्की और ब्राजील प्लांट में साइबर अटैक होने के बाद कामकाज ठप हो गया है। साइबर के बाद कंपनी के कई प्लांट्स भी प्रभावित हुए हैं। यह साइबर हमला इसी सप्ताह की शुरुआत में Honda के इंटरनल सर्वर में हुआ है जिसके बाद कंपनी के सिस्टम में वायरस फैलाए गए हैं। इसकी जानकारी कंपनी के एक प्रवक्ता ने AFP को दी है।तुर्की में कार का प्लांट और भारत और ब्राजील में मोटर साइकिल प्लांट इस हमले के शिकार हुए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी मामले की जांच कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक होंडा के 11 प्लांट को हैकर्स ने निशाना बनाया है जिनमें से पांच प्लांट अमेरिका में है। 

अमेरिका के प्लांट में काम फिर से शुरू हो गया है, लेकिन अन्य प्लांट में अभी कामकाज ठप है, हालांकि प्रवक्ता ने कहा है कि इस साइबर अटैक से कंपनी पर कुछ खास प्रभाव नहीं पड़ा है।होंडा सहित कई वैश्विक वाहन निर्माता कंपनियां पहले ही महामारी के कारण बिक्री में मंदी की मार झेल रहे हैं। ऐसे में साइबर अटैक किसी दोहरे झटके से कम नहीं है।  पिछले महीने, होंडा ने पिछले वर्ष के मुकाबले शुद्ध लाभ में 25.3 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की, क्योंकि मार्च में वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर बिक्री छह प्रतिशत घटकर जेपीवाई 14.9 ट्रिलियन (लगभग 10.45 लाख करोड़ रुपये) रही है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लॉकडाउन में साइबर अपराधों में बढ़ोत्तरी हुई है। इस बात से साइबर पुलिस और साइबर एक्सपर्ट दोनों सहमत हैं। लॉकडाउन में बढ़े साइबर क्राइम का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि सिक्योरिटी फर्म बाराकुडा नेटवर्क के अनुसार एक मार्च से 23 मार्च के बीच 4,67,825 पिशिंग ई-मेल भेजे गए जिनमें 9,116 कोरोना से संबंधित हैं, जबकि फरवरी में कोरोना को लेकर 1,188 और जनवरी में सिर्फ 137 ई-मेल भेजे गए थे। कोरोना वायरस से संबंधित ई-मेल भेजकर लोगों की निजी जानकारी चोरी की जा रही है और उनके सिस्टम में मैलवेयर इंस्टॉल करवाया जा रहा है।

जापानी कार निर्माता कंपनी Honda के भारत, तुर्की और ब्राजील प्लांट में साइबर अटैक होने के बाद कामकाज ठप हो गया है। साइबर के बाद कंपनी के कई प्लांट्स भी प्रभावित हुए हैं। यह साइबर हमला इसी सप्ताह की शुरुआत में Honda के इंटरनल सर्वर में हुआ है जिसके बाद कंपनी के सिस्टम में वायरस फैलाए गए हैं। इसकी जानकारी कंपनी के एक प्रवक्ता ने AFP को दी है।तुर्की में कार का प्लांट और भारत और ब्राजील में मोटर साइकिल प्लांट इस हमले के शिकार हुए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी मामले की जांच कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक होंडा के 11 प्लांट को हैकर्स ने निशाना बनाया है जिनमें से पांच प्लांट अमेरिका में है। 

अमेरिका के प्लांट में काम फिर से शुरू हो गया है, लेकिन अन्य प्लांट में अभी कामकाज ठप है, हालांकि प्रवक्ता ने कहा है कि इस साइबर अटैक से कंपनी पर कुछ खास प्रभाव नहीं पड़ा है।होंडा सहित कई वैश्विक वाहन निर्माता कंपनियां पहले ही महामारी के कारण बिक्री में मंदी की मार झेल रहे हैं। ऐसे में साइबर अटैक किसी दोहरे झटके से कम नहीं है।  पिछले महीने, होंडा ने पिछले वर्ष के मुकाबले शुद्ध लाभ में 25.3 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की, क्योंकि मार्च में वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर बिक्री छह प्रतिशत घटकर जेपीवाई 14.9 ट्रिलियन (लगभग 10.45 लाख करोड़ रुपये) रही है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लॉकडाउन में साइबर अपराधों में बढ़ोत्तरी हुई है। इस बात से साइबर पुलिस और साइबर एक्सपर्ट दोनों सहमत हैं। लॉकडाउन में बढ़े साइबर क्राइम का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि सिक्योरिटी फर्म बाराकुडा नेटवर्क के अनुसार एक मार्च से 23 मार्च के बीच 4,67,825 पिशिंग ई-मेल भेजे गए जिनमें 9,116 कोरोना से संबंधित हैं, जबकि फरवरी में कोरोना को लेकर 1,188 और जनवरी में सिर्फ 137 ई-मेल भेजे गए थे। कोरोना वायरस से संबंधित ई-मेल भेजकर लोगों की निजी जानकारी चोरी की जा रही है और उनके सिस्टम में मैलवेयर इंस्टॉल करवाया जा रहा है।