लॉकडाउन के दौरान ससुराल में बिताना पड़ रहा है समय वर्किंग वूमेंस के लिए काम आएंगी ये सलाह

बातचीत है सबसे अहम कड़ी


बातचीत है सबसे अहम कड़ी

अगर आप चाहती हैं कि ससुराल पक्ष और आप एक दूसरे को खुले दिल से स्वीकार कर ले तो उसकी शुरुआत बातचीत से ही होगी। चीजों को अपने मन में ही दबा कर न रखें। उनके किसी कदम से आपको अजीब महसूस हुआ हो तो उस बारे में बात करें। इससे रिश्ते में कड़वाहट आने की संभावना नहीं रहती है। ये भी याद रखें कि मानसिक रूप से स्वस्थ रहने से आपकी सेहत भी अच्छी रहती है। वहीं किसी बात को सोच सोचकर घुटन में रहने से आपकी ही तबियत खराब होगी।

फ़्रस्ट्रेशन से बचने के लिए स्वीकार करना सीखें

अगर आप अपने ससुराल के सदस्यों को परिवार की तरह स्वीकार कर लेंगे तो ये आपके लिए अच्छा रहेगा। लॉकडाउन के इस समय में साथ रहने के दौरान आपको बात-बात पर उनकी रोकटोक करने की आदत अटपटी लग सकती है। इससे बचने के लिए आप हो सकता है दिखावा करना शुरू कर दें। मगर समय बीतने के साथ आपकी झुंझलाहट बढ़ती जाएगी। इससे हो सकता है आप आगे चलकर उनके साथ रहने का विचार भी अपने मन में न लाएं। भविष्य में यदि रिश्ते में वही मिठास चाहती हैं तो अपने ससुराल के सदस्यों को उनकी आदतों के साथ स्वीकार करें और इस समय थोड़ा एडजस्ट करें।

सास ससुर की इच्छाएं भी सुनें

सास ससुर की इच्छाएं भी सुनें

आपकी किसी इच्छा पर जब कोई गौर नहीं करता तब आपको कैसा लगता है? अपने सास और ससुर के बारे में भी सोचें। उनकी छोटी छोटी इच्छाओं को सुनें और उनका आदर करें। उनके चेहरे पर आयी खुशी को देखकर आपको भी सुकून मिलेगा। ये भी याद रखें कि उनको आपसे भी कई उम्मीदें हैं।

40 1585199782

जानें उनकी पसंद-नापसंद

ये एक ऐसा समय मिला है जिसमें आप अपने सास ससुर की पसंद-नापसंद के बारे में जान सकती हैं। शादी से पहले आप अपने माता पिता को खुश रखने के लिए हर तरह के प्रयास करती थीं, एक छोटी सी कोशिश करके फिर से आप एक नए और मजबूत परिवार की नींव ससुराल में भी रख सकती हैं। यकीन मानिये ऐसा करके आप अनबन से बच सकती हैं। आपके इस रूप को देखकर आपके पति को भी खुशी मिलेगी।

लॉकडाउन एक पड़ाव

लॉकडाउन एक पड़ाव

आप अच्छी तरह से जानती हैं कि ये स्थिति हमेशा नहीं रहने वाली है, मगर इस से बचकर रहना बहुत जरुरी है। इस मुश्किल वक्त में आपको एक दूसरे का साथ देने की जरुरत है। आप अपनी व्यक्तिगत परेशनियों को लेकर ही न रोएं, बल्कि कोरोना से बचाव करने पर ध्यान दें। इसी में आपकी और आपके परिवार की भलाई है।

010 1586457719Source link