चोटों की वजह से क्रिस्टियानो रोनाल्डो बन पाए है बेहतर इंसान

Facebook

ब्राजील के महान फुटबाल खिलाड़ी रोनाल्डो ने हाल ही में अपने अनुभवों को साझ किया है. उन्होंने कहा है कि चोटों ने उन्हें एक इंसान और एक खिलाड़ी के तौर पर बेहतर बनाया है. हालांकि इन चोटों ने उनके करियर को छोटा भी किया. दो बार के विश्व कप विजेता अपने करियर के शीर्ष पर थे तभी उन्हें दो बार पांच महीने के भीतर घुटने में गंभीर चोटें लगीं. इस दौरान वह इंटर मिलान के लिए खेल रहे थे.

दरअसल इन चोटों से उबरने में उन्हें दो साल लगे और वह 2002 विश्व कप से ठीक पहले ब्राजील की राष्ट्रीय टीम में आ गए थे. इस विश्व कप में उन्होंने आठ गोल किए और टीम को विजेता बनाने में मदद की. एक समाचार एजेंसी ने रोनाल्डो की अर्जेटीना के पूर्व मिडफील्डर जुआन सेबास्टियन वेरोन के बीच इंस्टाग्राम पर बातचीत के हवाले से लिखा है, “मैं चोटों से दूर रहना पसंद करता लेकिन उन्होंने मेरी जिंदगी बदल दी. चोटों ने मुझे बेहतर इंसान बनाया और ज्यादा जिम्मेदार तथा अनुशासित भी. “

आपको बता दें की रोनाल्डो को 2008 में एक और चोट लगी थी. तब वह एसी मिलान के लिए खेल रहे थे और इस चोट ने यूरोप में उनके करियर को खत्म कर दिया था. उन्होंने कहा, “अगर चोटें नहीं लगती तो मैं चार साल और खेलता. लेकिन उन्होंने मेरे लिए चेतावनी और जगाने का काम किया. मैं सिर्फ उनका कृतज्ञ हो सकता हूं. मेरा करियर शानदार रहा. मैं कई महान खिलाड़ियों के साथ खेला.”

ब्राजील के महान फुटबाल खिलाड़ी रोनाल्डो ने हाल ही में अपने अनुभवों को साझ किया है. उन्होंने कहा है कि चोटों ने उन्हें एक इंसान और एक खिलाड़ी के तौर पर बेहतर बनाया है. हालांकि इन चोटों ने उनके करियर को छोटा भी किया. दो बार के विश्व कप विजेता अपने करियर के शीर्ष पर थे तभी उन्हें दो बार पांच महीने के भीतर घुटने में गंभीर चोटें लगीं. इस दौरान वह इंटर मिलान के लिए खेल रहे थे.

दरअसल इन चोटों से उबरने में उन्हें दो साल लगे और वह 2002 विश्व कप से ठीक पहले ब्राजील की राष्ट्रीय टीम में आ गए थे. इस विश्व कप में उन्होंने आठ गोल किए और टीम को विजेता बनाने में मदद की. एक समाचार एजेंसी ने रोनाल्डो की अर्जेटीना के पूर्व मिडफील्डर जुआन सेबास्टियन वेरोन के बीच इंस्टाग्राम पर बातचीत के हवाले से लिखा है, “मैं चोटों से दूर रहना पसंद करता लेकिन उन्होंने मेरी जिंदगी बदल दी. चोटों ने मुझे बेहतर इंसान बनाया और ज्यादा जिम्मेदार तथा अनुशासित भी. “

आपको बता दें की रोनाल्डो को 2008 में एक और चोट लगी थी. तब वह एसी मिलान के लिए खेल रहे थे और इस चोट ने यूरोप में उनके करियर को खत्म कर दिया था. उन्होंने कहा, “अगर चोटें नहीं लगती तो मैं चार साल और खेलता. लेकिन उन्होंने मेरे लिए चेतावनी और जगाने का काम किया. मैं सिर्फ उनका कृतज्ञ हो सकता हूं. मेरा करियर शानदार रहा. मैं कई महान खिलाड़ियों के साथ खेला.”