34 साल के हुए सुरेश रैना, 2011 विश्व कप को जिताने में निभाई थी अहम भूमिका

DA Image

टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज सुरेश रैना आज 34 साल के हो गए हैं। रैना ने भारत को 2011 विश्व कप में जीत दिलाने में अहम किरदार निभाया था। क्वॉर्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया और सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई उनकी पारी आज भी हर किसी के जेहन में मौजूद है। सुरेश रैना ने हमेशा धोनी के काफी करीबी माने जाते रहे और यही वजह रही कि उन्होंने धोनी के साथ ही अपने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का भी ऐलान कर दिया था। रैना ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के साथ-साथ आईपीएल में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई और उनको मिस्टर आईपीएल नाम का टैग भी दिया गया। 

रेट्रो जर्सी में उतरी टीम इंडिया, फैन्स को पसंद आया कोहली का नया लुक

सुरेश रैना ने इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ अपना पहला मुकाबला खेला। रैना ने अपने वनडे करियर में 226 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 35.31 के औसत से 5615 रन बनाए इस दौरान रैना ने 5 सेंचुरी और 36 हाफसेंचुरी भी लगाई। रैना को हमेशा पाकिस्तान के खिलाफ 2011 विश्व कप के सेमीफाइनल में खेली गई पारी के लिए याद किया जाता है। युवराज सिंह के पहली गेंद पर आउट होने के बाद रैना ने मोर्चा संभाला था और टीम को 250 के पार ले गए थे।

रैना वनडे करियर में तो भारत के भरोसेमंद बल्लेबाज रहे ही इसके साथ ही, उन्होंने टी20 क्रिकेट में भी काफी नाम कमाया। रैना ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने अपने टी20 करियर में भारत के लिए कुल 78 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 134.87 के स्ट्राइक रेट से 1605 रन बनाए। रैना ने अंतरराष्ट्रीय टी20 क्रिकेट में एक शतक भी लगाया और 5 अर्धशतक भी लगाए। रैना आईपीएल की गिनती आईपीएल के सबसे कामयाब बल्लेबाजों में की जाती है। उन्होंने अपने प्रदर्शन के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स को तीन बार आईपीएल का खिताब जिताया। 

LPL में खराब प्रदर्शन के बाद ट्रोल हुए पठान, 2 ओवर भी नहीं कर सके पूरे

हालांकि, सुरेश रैना का टेस्ट करियर कुछ खास नहीं रहा और वह भारतीय टीम के लिए सिर्फ 18 टेस्ट मैच ही खेल सके। इस दौरान  रैना ने 26.48 के मामूली औसत से 768 रन बनाए, वह टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ एक शतक ही लगा सके। रैना ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच साल 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला, उसके बाद से वह टीम से लगातार नजरअंदाज किए गए। 
 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here