हेल्थ आईडी कार्ड क्या है?, जाने इसके लाभ और बनवाने के तरीके

हेल्थ आईडी कार्ड क्या है?, जाने इसके लाभ और बनवाने के तरीके

पीएम मोदी Health ID Card

कोरोनावायरस महामारी के बाद भारत सरकार ने जिस तेजी से वैक्सिनेसन की प्रक्रिया राष्ट्रीय स्तर पर चलाई है वह काबिले तारीफ है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में वर्तमान भारतीय सरकार ने ‘आयुष्मान भारत’ से लेकर अन्य स्वास्थ्य योजनाओं को भी चलाया है। अगर आप इन सरकारी योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपकी सारी उत्सुकता को ख़त्म करेगा। आइये विस्तार से जानते हैं।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन द्वारा जारी हेल्थ आईडी कार्ड

आपकी जानकारी एक लिए बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 15 अगस्त 2020 को ‘नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन’ की शुरुआत की थी। इसी मिशन के तहत देश के हर नागरिकों के लिए एक डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड प्रदान करने की बात की गयी थी। यह डिजिटल आईडी कार्ड हर नागरिक का यूनीक आईडी कार्ड होगा। यह कार्ड आधार कार्ड की तरह होगा।

क्या है हेल्थ आईडी कार्ड का काम

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत बनाये गए डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड में नागरिक की बीमारी से सम्बंधित सारी जानकारी रहेगी मसलन नागरिक को पहले कौन-कौन सी बीमारी रह चुकी है, उसका इलाज कैसे हुआ है और यह इलाज किस समय पर हुआ है आदि। हर नागरिक का हेल्थ आईडी कार्ड रहने पर जब वह डॉक्टर के पास इलाज के लिए जायेगा तो डॉक्टर को हेल्थआईडी कार्ड के जरिये सब मालूम हो जायेगा कि उसे कौन-कौन सी बीमारिया रह चुकी है। इससे डॉक्टर को बीमारी का पता लगाने और इलाज करने में आसानी और जल्दी होगी।

हेल्थ आईडी कार्ड बनाने का उद्देश्य

सरकार ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत इसलिए डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड बनवाया है ताकि देश भर में एक डिजिटल हेल्थ सिस्टम स्थापित किया जा सके। हेल्थ आईडी कार्ड बने होने से डॉक्टर को मरीज का हेल्थ रिकार्ड मात्र एक क्लिक में मिल जायेगा। कार्ड बने रहने से आपको कोई कागजी रिपोर्ट डाक्टर के पास नहीं ले जानी पड़ेगी। अगर आपकी कागजी रिपोर्ट कही गुम भी हो गयी तो भी आप आईडी कार्ड में उपलब्ध जानकारी के हिसाब से उसे एक्सेस कर पाएंगे।

इसके अलावा स्वास्थ्य सेवा में पारदर्शिता भी आएगी। इससे समय की बचत होगी और कोई भी डाटा गुम नहीं होगा। इससे हर नागरिको को मिलने वाली स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार आयेगा। नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का लक्ष्य है कि देश के हर नागरिक को अच्छी और सस्ती स्वास्थ्य सेवा प्रदान की जाए।

कौन बनवा सकता है हेल्थ आईडी कार्ड

जो भी मरीज अपने हेल्थ रिकार्ड को डिजिटल रूप से दर्ज कराना चाहेगा उसे एक हेल्थ आईडी कार्ड बनवाना होगा। इसे बनवाने से वह अपनी हेल्थ से सम्बंधित सभी जानकारी को डिजिटल रूप से सेव कर पायेगा और जब चाहे इसे एक्सेस कर सकेगा। यह हेल्थ आईडी यूनीक होगी क्योंकि इसे आधार नंबर का इस्तेमाल करके और मोबाइल नंबर से बनाया जायेगा।

ऑनलाइन हेल्थ आईडी कार्ड कैसे बनवाएं

हेल्थ आईडी कार्ड बनाने के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://nha.gov.in/ पर जाना होगा। इस वेबसाईट पर आने के बाद आपके सामने एक होम पेज खुलेगा। इसमें आपको Creat health ID कार्ड बनाने का आप्शन आयेगा .इसमें क्लिक करने के बाद सभी सम्बंधित जानकारी आपको भरनी होगी। हेल्थ आईडी कार्ड बनवाने की प्रक्रिया जनवरी 2021 में शुरू हो जायेगी। वेबसाईट के अलावा आप इस कार्ड को हॉस्पिटल में भी बनवा सकते हैं।

हेल्थ आईडी कार्ड बनवाने से लाभ

हेल्थ आईडी कार्ड बनवाने से न केवल डॉक्टर को फायदा होगा बल्कि मरीज भी इससे डॉक्टर से सम्बंधित सभी जानकारी को उसके हेल्थ आईडी कार्ड से प्राप्त कर सकेगा। मरीज को डाक्टरों की यूजर आईडी से उसके इलाज के करियर, पढाई और अनुभव के बारें में जानकारी मिल सकती है।

हेल्थ जानकारी चेक करने की प्रक्रिया

डॉक्टर आपके हेल्थ के रिकार्ड को तभी चेक कर पायेगा जब आप उसको अपनी आईडी चेक करने का एक्सेस देंगे। एक बार एक्सेस देने पर डॉक्टर एक बार ही आपके हेल्थ रिकार्ड को चेक कर पायेगा। अगर आप डॉक्टर के पास दुबारा इलाज के लिए जाते हैं तो आपको दुबारा डॉक्टर को एक्सेस देना पड़ेगा। इससे आपकी हेल्थ से सम्बंधित निजी जानकारी गोपनीय बनी रहेगी।

हेल्थ आईडी कार्ड कैसे करेगा काम

इस कार्ड में एक क्यूआर कोड होगा। जिसे स्कैन करने के बाद हॉस्पिटल और क्लीनिक मरीज से सम्बंधित जानकारी मरीज की सहमति से पा सकते हैं। यह जानकारी पाने के लिए ओटीपी की जरुरत होगी जो मरीज के मोबाइल नम्बर पर आएगी। इस कार्ड में ब्लड गुप, दवाई, रिपोर्ट और डाक्टर से सम्बंधित सभी जानकारी दर्ज होगी। इस आईडी कार्ड में 14 नंबर होगा जो मरीज की यूनीक आईडी होगी। हेल्थ आईडी कार्ड आधार कार्ड से लिंक होगी।

हेल्थ आईडी कार्ड बनवाने के लिए जरूरी कागजात

अगर आप सरकार की इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको हेल्थ आईडी कार्ड बनवाने के लिए निम्नलिखित कागजात की जरुरत होगी।

– आप भारत के नागरिक होने चाहिए।

– आपका एक मोबाइल नंबर होना चाहिए

– आपकी एक ईमेल आईडी और आधार नंबर होना चाहिए

– बैंक पासबुक

– राशन कार्ड

– एक पासपोर्ट साइज फोटो

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here