हर शुक्रवार के दिन दुल्हन के लिबाज़ में आ जाती है यह लडकी बीते 16 सालों से चल रहा है सिलसिला जाने क्या है वजह

हर शुक्रवार के दिन दुल्हन के लिबाज़ में आ जाती है यह लडकी, बीते 16 सालों से चल रहा है सिलसिला, जाने क्या है वजह

लडकियों में सजने सवरने की आदत हमेशा ही पायी जाती है और इसीलिए ऐसा भी कहा जाता है के एक लडकी के लिए उसकी शादी का दिन बेहद ही ख़ास होता है| ऐसा इसलिए क्योंकि उसकी शादी के दिन सभी की नजर उसी पर होती है और लडकी भी दुल्हन के रूप में पूरी तरह से सज संवर कर नजर आती है| पर अगर हम आपसे कहें के कोई लडकी ऐसी भी हो सकती हैं जो के हर हफ्ते ही सज संवर कर दुल्हन का लिबाज़ पहन ले तो आप शायद ही हमारी इस बात का यकीन करेंगे| पर हम आपको आज अपनी इस पोस्ट के जरिये एक ऐसी ही लडकी से मिलाने जा रहे हैं|

इस लडकी का नाम हीरा जीशान है जो के पाकिस्तान के लाहौर में आने वाले पंजाब प्रान्त में रहती है| अभी इनकी उम्र तकरीबन 42 साल है और इन्हें लेकर लोगों का ऐसा कहना है के हर शुक्रवार के दिन हीरा जीशान पूर्ण श्रृंगार करके एक दुल्हन का लिबाज़ शारं कर लेती हैं| और ऐसा कुछ दिनों से नही बल्कि हीरा बीते 16 सालों से ऐसा करती आ रही हैं| और जब इनसे इस कदर हर शुक्रवार को श्रृंगार करने की वजह पूची गयी तो इन्होने अपनी एक बेहद ही दुखद कहानी सुनाई|

4

बता दें के हीरा नें जो कहाँ बताई वह उन्ही की जिंदगी की थी| हीरा नें बताया के जब वो महज़ 16 साल की थी तभी इनकी माँ की तबियत बहुत अधिक खराब हो गयी और उन्हें जल्द ही अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ इन्हें ब्लड की जरूरत थी| साथ ही हीरा की माँ चाहती थीं के बेटी की शादी भी वो जीते जी देख लें| ऐसे में हीरा की शादी उन्होंने उसी शख्स से टी कर दी जिसने उन्हें ब्लड दनते किया था और फिर अस्पताल में ही बेटी हीरा की शादी कराई गयी और फिर विदाई हुई|

और उन दिनों हीरा की शादी इतनी जल्दबाजी में हुई के उन्हें दुल्हन की तरह सजने सवरने का मौका नही मिल पाया और कुछ वक्त बीतते ही हीरा की माँ नें भी इस दुनिया को अलविदा कह दिया| ऐसे में हीरा को बहुत ही दा सदमा लगा और वो अवसाद से ग्रस्त हो गयी| पर यहाँ दिक्कत यह आई के इसी दौरान हीरा प्रेग्नेंट भी थी और इनकी कोख में दो जुड़वाँ बच्चे भी थे| पर अवसाद के चलते इनके दोनों बच्चों नें भी दम तोड़ दिया और फिर इनकी स्थिति और बिगड़ गयी|

34

पर एक दिन जब इन्हें एक दुल्हन के लिबाज़ में सजी एक लडकी दिखी तो अचानक इनकी हालत सुधरने लगी और फिर हीरा नें भी खुद को दुल्हन की तरह तैयार किया और ऐसा करने के बाद इन्हें आतंरिक शांति मिली| ऐसे में हीरा का कहना है के उन्हें एक दुल्हन की तरह सोलह श्रृंगार कर लेने के बाद एक अलग सुकून मिलता है और उनका अकेलापन भी दूर होता है और इसीलिए ये बीते 16 सालों से ऐसा कर रही हैं और ऐसा करके वो अब काफी नार्मल भी हो चुकी हैं|

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here