हर्बल कॉस्मेटिक्स के व्यावसायिक उत्पादन के लिए सीमैप ने किया करार

हर्बल कॉस्मेटिक्स के व्यावसायिक उत्पादन के लिए सीमैप ने किया करार


नई दिल्ली। (इंडिया साइंस वायर): केंद्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (सीमैप) द्वारा विकसित हर्बल कॉस्मेटिक उत्पादों के व्यावसायिक उत्पादन के लिए एक निजी कंपनी के साथ करार किया गया है। इस समझौते के तहत सीमैप द्वारा विकसित किए गए हर्बल उत्पादों- रिलैक्सोमैप, पेनज़ा, पेनछू, फ्लोमॉप और एक्ने प्रिवेंटिव फेसवॉश बनाने की तकनीक मुंबई स्थित कंपनी मेसर्स नंदन इम्पेक्स प्राइवेट लिमिटेड को हस्तांतरित की गई है।

इसे भी पढ़ें: भारत में रणनीतिक कारणों से संभव नहीं हैं 2 टाइम जोन

औषधीय तथा सगंध पौधों के क्षेत्र में शोध एवं विकास के लिए कार्यरत सीमैप वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की एक राष्ट्रीय प्रयोगशाला है। सीमैप द्वारा विकसित हर्बल फॉर्मूला रिलैक्सोमैप को थकावट, तनाव और चिंता के परिणामस्वरूप दर्द में राहत देने में उपयोगी पाया गया है। ‘पेनजा’ क्रीम मांसपेशियों में खिंचाव और सूजन आदि में राहत देती है। ‘पेनछू’ को सिरदर्द, और मांसपेशियों में मोच और जुकाम आदि में उपयोगी पाया गया है। इसमें खास औषधीय तत्वों का उपयोग किया गया है, जो तनाव दूर करने भारीपन को दूर करने में प्रभावी हो सकते हैं।
 
‘फ्लोमॉप’ कीट से बचाने वाली क्रीम है, जो घर के अधिकांश कीटों को दूर भगा सकती है। इसमें कीटाणुनाशक तेलों और हल्के तरल पैराफिन का उपयोग किया गया है। एक्ने प्रिवेंटिव फेसवॉश मुंहासे और फुंसियों के नियंत्रण के लिए एक एलोवेरा आधारित हर्बल उत्पाद है। क्लींजर के अलावा, यह त्वचा कंडीशनर के रूप में भी काम करता है।

इसे भी पढ़ें: मधुमेह से ग्रस्त होने से पहले मिल सकेगी चेतावनी

सीमैप के कार्यवाहक निदेशक डॉ. अब्दुल समद ने बताया कि “इन हर्बल उत्पादों का वैज्ञानिक रूप से परीक्षण किया गया है। ये उत्पाद ज्यादातर सगंध एवं औषधीय पौधों से बने हैं। इन हर्बल उत्पादों के व्यावसायिक उत्पादन से देश में औषधीय एवं सगंध पौधों की खेती करने वाले किसानों को भी लाभ हो सकता है।” 
 
(इंडिया साइंस वायर)