सोने-चांदी में निचले भाव पर बढ़ सकती है खरीदारी, जानकारों का अनुमान

सोने-चांदी में निचले भाव पर बढ़ सकती है खरीदारी, जानकारों का अनुमान

मुंबई:

Gold Silver Rate Today 9th October 2020: गुरुवार को विदेशी बाजार में सोना-चांदी (MCX Gold Silver Free Tips) मिलेजुले रुख के साथ बंद हुए थे. डॉलर इंडेक्स में गिरावट और कमजोर अमेरिकी रोजगार के आंकड़ों की वजह से बुलियन को सपोर्ट मिला है. अमेरिका में बेरोजगारी भत्ता मांगने वालों की संख्या 8.37 लाख से बढ़कर 8.40 लाख हो गई है. बाजार ने 8.20 लाख लोगों के द्वारा बेरोजगारी भत्ता मांगने का अनुमान लगाया था.

यह भी पढ़ें: मुकेश अंबानी बोले- Jio ने सिर्फ 3 सालों में भारत में 4जी नेटवर्क खड़ा कर दिया, इससे पहले…

अमेरिका में अनुमान से अधिक बेरोजगारी भत्ता मांगने वालों की संख्या बढ़ने की वजह से सोने (current gold price) की कीमतों को सपोर्ट मिला है. अमेरिका में खराब आर्थिक आंकड़ों की वजह से राहत पैकेज आने की उम्मीद बढ़ गई है. आज के कारोबार में सोने-चांदी (Check Latest Gold Rate) में ट्रेडिंग के लिए जानकारों की राय जानने की कोशिश करते हैं.

यह भी पढ़ें: Airtel ने Reliance Jio को टक्‍कर देने के लिए लांच किया 399 रुपये वाला पोस्टपेड प्लान, जानें फायदे

सोने-चांदी पर जानकारों की राय

पृथ्वी फिनमार्ट प्राइवेट लिमिटेड (Prithvi Finmart Pvt Ltd) के डायरेक्टर (कमोडिटी एंड करेंसी) मनोज कुमार जैन (Manoj Kumar Jain) के मुताबिक अमेरिका में रोजगार के कमजोर आंकड़ें और डॉलर इंडेक्स में गिरावट की वजह से सोने-चांदी में निचले स्तर पर सपोर्ट मिल रहा है. उनका कहना है कि MCX पर सोने में महत्वपूर्ण सपोर्ट लेवल 49,920 रुपये है और अगर भाव 50,220 रुपये के ऊपर टिका रहता है तो सोना 50,380-50,500 रुपये के ऊपरी लेवल को फिर से छू सकता है. वहीं दूसरी ओर चांदी में भी 59,500 रुपये का सपोर्ट है. चांदी अगर 60,600 रुपये के ऊपर टिकी रहती है तो 61,300-61,900 रुपये के ऊपरी लेवल को एक बार फिर छू सकती है. मनोज कहते हैं कि आज के कारोबार में सोने-चांदी में गिरावट पर खरीदारी की रणनीति बनानी चाहिए.

यह भी पढ़ें: सब्जियों के बाद अब दाल की कीमतों ने बिगाड़ा रसोई का गणित

केडिया एडवाइजरी (Kedia Advisory) के मैनेजिंग डायरेक्टर अजय केडिया (Ajay Kedia) के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना दिसंबर वायदा में 50,400-50,650 रुपये के लक्ष्य के लिए 50,100 रुपये के भाव पर खरीदारी की जा सकती है. सोने के इस सौदे के लिए 49,850 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है. चांदी दिसंबर वायदा में 60,400 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 61,000-61,800 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 59,800 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

मोतीलाल ओसवाल (Motilal Oswal) के असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अमित सजेजा (Amit Sajeja) के मुताबिक इंट्राडे में MCX पर सोना दिसंबर वायदा में 50,350 रुपये के भाव पर बिकवाली करके 49,750 रुपये का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. सोने के इस सौदे के लिए 50,600 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है. चांदी दिसंबर वायदा में 59,400 रुपये के लक्ष्य के लिए 61,000 रुपये के भाव पर बिकवाली की जा सकती है. चांदी दिसंबर वायदा में 61,800 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

दिल्ली, मुंबई और चेन्नई समेत देश के बड़े शहरों के सोने-चांदी के आज के रेट जानने के लिए यहां क्लिक करें

एंजेल ब्रोकिंग (Angel Broking) डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (एनर्जी एवं करेंसी) अनुज गुप्ता (Anuj Gupta) के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोने में 50,800 रुपये के लक्ष्य के लिए 50,000 रुपये के भाव पर खरीदारी की जा सकती है. सोने के इस सौदे के लिए 49,700 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं. दूसरी ओर चांदी दिसंबर वायदा में 60,300 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 63,000 रुपये का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. चांदी के इस सौदे के लिए 59,500 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

कार्वी कॉमट्रेड (Karvy Comtrade) के हेड रिसर्च वीरेश हीरेमथ के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना दिसंबर वायदा में 50,400 रुपये के लक्ष्य के लिए 50,100 रुपये के भाव पर खरीदारी की जा सकती है. सोने के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 49,950 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए. चांदी दिसंबर वायदा में 60,400 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 60,800 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. वहीं दूसरी ओर चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 60,200 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

यह भी पढ़ें: चालू वित्त वर्ष में भारत की GDP में 9.6 फीसदी गिरावट का अनुमान: World Bank

(Disclaimer: निवेशक निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार की सलाह जरूर लें. न्यूजनेशनटीवीडॉटकॉम की खबर को आधार मानकर निवेश करने पर हुए लाभ-हानि का newsnationtv.com से कोई लेना-देना नहीं होगा. निवेशक स्वयं के विवेक के आधार पर निवेश के फैसले लें)

संबंधित लेख



Source link