सीमेंट के साथ अभ्रक व सिल्कान से तैयार होगा राम मंदिर की नींव

screenshot 20201104 195727

विशेषज्ञों के बीच तैयार होगा राम मंदिर निर्माण के लिए 1200 पिलरों की नींव, 20 टन के रोलर का होगा इस्तेमाल

अयोध्या : राम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण की तैयारी पूरी कर ली गई है मंदिर निर्माण के लिए भूमि के अंदर 1200 पिलर तैयार किए जाएंगे। लेकिन इन पिलरों को हद खास मसलों से तैयार किया जाएगा जिससे बुनियाद हजारों वर्ष तक सुरक्षित रह सके।

राम मंदिर निर्माण के लिए नींव में 1200 पिलर को तैयार किया जाना है। जिसके लिए परिसर में पाइलिंग मशीन वाह ऑटोमेटिक प्लांट के मिक्सचर मशीन को लगाया गया है। आईआईटी चेन्नई,सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टिट्यूट रुड़की के विशेषज्ञों के देख रेख में मशीन के माध्यम से पाइलिंग कर तैयार करने के लिए कंक्रीट सीमेंट के साथ अभ्रक और सिल्कान को भी मिक्स किया जाएगा जिससे मंदिर के नींव की आयु भी एक हजार वर्ष तक सुरक्षित होगी। वन पूरे परिसर की भूमि को मजबूती के लिए 20 टन के रोलर का इस्तेमाल किया जाएगा।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी ने बताया कि मंदिर निर्माण से पहले उनके नींव को तैयार किए जाने का कार्य किया जाएगा। जिसके लिए विशेषज्ञों ने अपनी राय दी है उन्होंने बताया कि पिलर को हजारों वक्त तक सुरक्षित रखने के लिए सीमेंट व कंक्रीट से सुरक्षित नहीं होगा इसके लिए सीमेंट के साथ अभ्रक और सिल्कान से मसाला तैयार किया जाएगा।
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय के मुताबिक रामजन्मभूमि परिसर की भूमि मजबूत बनाए जाने के लिए सबसे भारी और वाइब्रेटर युक्त 20 टन के रोलर का इस्तेमाल किया जाएगा क्योंकि परिसर की भूमि फुल फुल है। उसे मजबूत व भूकंप रहित बनाये जाएंगे।