सरकार का बड़ा कदम, राज्यों को मिली 670 नई इलेक्ट्रिक बसों की सौगात

सरकार का बड़ा कदम, राज्यों को मिली 670 नई इलेक्ट्रिक बसों की सौगात

नई दिल्ली:

देश में पर्यावरण प्रदूषण और ईंधन जैसी चुनौती से निपटने के लिए केंद्र की Narendra Modi सरकार की ओर से Electric Vehicles के इस्तेमाल को बढ़ावा देने की कोशिशें चल रहीं हैं. मोदी सरकार ने ‘फेम इंडिया’ के दूसरे चरण (FAME India Scheme Phase 2) में महाराष्ट्र, गोवा, गुजरात और चंडीगढ़ के लिए 670 नई इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी है. वहीं मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, गुजरात और पोर्ट ब्लेयर में 241 Electric Vehicle Charging Station को भी मंजूरी मिली है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि मोदी सरकार पर्यावरण अनुकूल पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है.

यह भी पढ़ें: MG Motor ने प्रीमियम SUV Gloster लॉन्च किया, प्री बुकिंग शुरू

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर, खुद पिछले एक साल से इलेक्ट्रिक कार का इस्तेमाल कर रहे हैं. इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर उनका अनुभव काफी अच्छा रहा है. उन्होंने दूसरों को भी ऐसी गाड़ियों के इस्तेमाल के लिए प्रेरित किया है. जावडेकर ने शुक्रवार को फेम इंडिया के दूसरे चरण के बारे में जानकारी देते हुए कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में इलेक्ट्रिक गाड़ियों का प्रचार और प्रसार बढ़ रहा है. मैं पिछले एक साल से इलेक्ट्रिक गाड़ी का उपयोग कर रहा हूं. इलेक्ट्रिक गाड़ी का बहुत अच्छा अनुभव है. एक रुपये किलोमीटर फ्यूल चार्ज है. एक यूनिट में ये गाड़ी दस किलोमीटर चलती हैं. अब बहुत सारी गाड़ियां आने लगीं हैं, जो सस्ती भी हैं और अच्छी भी हैं.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए किया बड़ा फैसला, इतने रुपये की होगी बचत

फेम इंडिया कार्यक्रम के तहत इलेक्ट्रिक बसों के संचालन का निर्णय ऐतिहासिक: प्रकाश जावड़ेकर
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मोदी सरकार की ओर से फेम इंडिया कार्यक्रम के तहत इलेक्ट्रिक बसों के संचालन के निर्णय को ऐतिहासिक बताया. उन्होंने कहा कि विभिन्न राज्यों को पहले ही चार सौ से अधिक बसें दी जा चुकी हैं. उन्होंने कहा, मुझे खुशी हो रही है कि महाराष्ट्र, गोवा, गुजरात और चंडीगढ़ में 670 ई बसें मंजूर हुईं हैं. वहीं 241 चार्जिंग स्टेशन एमपी, तमिलनाडु, केरल, गुजरात और पोर्ट ब्लेयर के लिए मंजूर किए गए हैं. इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए चार्जिंग स्टेशनों की स्थापना आवश्यक है. केंद्रीय मंत्री जावडेकर ने बताया कि कुल 670 में महाराष्ट्र को 240, गुजरात को 250, चंडीगढ़ को 80 और गोवा को 100 बसें देने का निर्णय लिया गया है. केरल सहित बाकी जगहों पर चार्जिंग स्टेशन शुरू कर रहे हैं. इसी तरह से देश में इलेक्ट्रिकल गाड़ियां बहुत बड़े पैमाने पर चलने लगेंगी. उन्होंने सभी से इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग करने की अपील की.

यह भी पढ़ें: कार लवर्स के लिए खुशखबरी, मासिक शुल्क पर ले सकेंगे Maruti Suzuki की नई कार 

एक अप्रैल 2015 से फेम इंडिया योजना लागू
दरअसल, मोदी सरकार ने देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के विनिर्माण और उनके तेजी से इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए एक अप्रैल 2015 से फेम इंडिया योजना लागू की है. इस योजना का दूसरा चरण एक अप्रैल 2019 से अगले तीन वर्षों के लिए शुरू हुआ है. इस योजना पर 2021-22 तक कुल 10,000 करोड़ रुपये खर्च करने का लक्ष्य है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में इलेक्ट्रिक और हाईब्रिड वाहनों के तेजी से इस्तेमाल को बढ़ावा देना है. इसके लिए लोगों को इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में शुरूआती स्तर पर प्रोत्साहन राशि देने के साथ ऐसे वाहनों की चार्जिंग के लिए पर्याप्त आधारभूत ढांचा विकसित करना है. सरकार का मानना है कि यह योजना पर्यावरण प्रदूषण और ईंधन सुरक्षा जैसी समस्याओं का समाधान करेगी.

संबंधित लेख



Source link