संजू सैमसन को अगर मौका मिला होता, तो वो 2019 वर्ल्ड कप जिता देते’

DA Image

संयुक्त अरब अमीरात में हो रहे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में संजू सैमसन ने जबर्दस्त शुरुआत की है। लीग के अपने पहले मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स के लिए संजू सैमसन ने चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ 32 गेंदों में 75 रनों की आतिशी पारी खेली थी। किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ रॉयल्स के दूसरे मैच में सैमसन ने सिर्फ 42 गेंदों में ताबड़तोड़ 5 रनों की पारी खेली थी, जिसकी मदद से उनकी टीम ने 224 का रिकॉर्ड लक्ष्य हासिल किया।

इस जीत के साथ ही राजस्थान रॉयल्स का नाम आईपीएल के इतिहास में भी दर्ज हो गया। टीम की रिकॉर्ड ब्रेकिंग जीत के बाद ट्विटर पर सैमसन की धुआंधार बल्लेबाजी की काफी सराहना हुई। केरल के तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी ट्विटर पर सैमसन की तारीफ की। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा,  “राजस्थान रॉयल्स की शानदार जीत! मैं संजू सैमसन को पिछले 10 सालों से जानता हूं और जब वे सिर्फ 14 साल के थे मैंने उनसे कहा था कि एक दिन वे अगले एमएस धोनी बनेंगे, वह दिन आ गया। आईपीएल में उनकी दो शानदार पारियों से आप जान गए हैं कि एक विश्वस्तरीय खिलाड़ी आ गया है।”

IPL 2020: राहुल तेवतिया ने बताया, किन तीन स्पिनरों के साथ खेलने का मिला फायदा

लेकिन पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर के बाद अब केरल के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत भी थरूर की बात से इत्तेफाक नहीं रखते। श्रीसंत ने थरूर के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि सैमसन ‘अगले धोनी’ नहीं हैं और उन्हें 2015 से ही टीम का हिस्सा होना चाहिए था। श्रीसंत ने लिखा, “वे अगले धोनी नहीं हैं, वे सिर्फ और सिर्फ संजू सैमसन हैं। उन्हें 2015 से ही नियमित तौर पर क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट (टेल्ट, वनडे, टी20) में खेलना चाहिए था।” इसके साथ ही उन्होंन कहा, “कृपया उनकी तुलना ना करें। अगर उन्हें सही मौका दिया जाता, तो वे इसी तरह से भारतीय टीम के लिए खेल रहे होते और विश्व कप जीत जाते… लेकिन।”

इस बीच, इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मौजूदा सत्र में शानदार लय में चल रहे राजस्थान रॉयल्स के विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन ने मंगलवार को कहा कि भारत के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की तरह ‘कोई नहीं खेल सकता और किसी को इसकी कोशिश भी नहीं करनी चाहिए। धोनी के साथ अपनी तुलना को खारिज करते हुए सैमसन ने कहा, ”मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि धोनी की तरह कोई नहीं खेल सकता है, ना ही किसी को उनकी तरह खेलने की कोशिश करनी चाहिये। एमएस धोनी की तरह खेलना बिल्कुल भी आसान नहीं है, इसलिए इससे अलग छोड़ देना चाहिए। मैं कभी एमएस धोनी की तरह खेलने के बारे में नहीं सोचता। वह भारतीय क्रिकेट के और इस खेल के दिग्गज हैं।”

Source link