वास्तु टिप्स: शिवलिंग के आकार की भूमि साधुओं के लिए होती है श्रेष्ठ

वास्तु शास्त्र - India TV Hindi

Image Source : INSTAGRAM: @HOUSES365
वास्तु शास्त्र 

वास्तु शास्त्र में अब तक आपको विभिन्न शुभ-अशुभ भूमियों की आकृतियों के बारे में बताया गया। आज आप विभिन्न आकृतियों के फलों के बारे में जानिए। अलग-अलग आकार की भूमियों का अलग-अलग फल होता है। 

आकार में चौकोर और हाथी के समान फैली हुई, वृत्ताकार, घड़े की आकार की और भद्रपीठ युक्त भूमि, यानी जिसकी लम्बाई-चौड़ाई समान व मध्य भाग समतल हो, धन-धान्यादि देने वाली होती है। अगर भूमि शिवलिंग के आकार की हो तो यह साधुओं के लिये श्रेष्ठ होती है।

ईशान कोण, यानी उत्तर-पूर्व से भूमि अगर निचाई में हो तो वह पुत्र और धन लाभ कराने वाली होती है। 

अन्य खबरों के लिए करें क्लिक

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here