रेलवे का एग्जाम 15 दिसंबर से हो सकता है

रेलवे में देशभर के सभी 17 जोनल रेलवेज में खाली हुए 1.40 लाख पदों पर भर्ती परीक्षा होनी थी. इसके लिए पिछले साल के शुरू में नोटिफिकेशन जारी किया था लेकिन डेढ़ साल बाद भी रेलवे इस भर्ती परीक्षा का आयोजन नहीं कर सका. कोरोना महामारी की वजह से रेलवे ने यह परीक्षा रोक दी थी. लेकिन दिसंबर में इसे कराने की योजना बनाई जा रही है.

भारतीय रेलवे के मुताबिक भारतीय रेलवे ने पहले 1.40 लाख रिक्तियों के बारे में नोटिफिकेशन जारी किया था. इसके लिए 2.40 करोड़ से ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए थे. कोरोना महामारी की वजह से कंप्यूटर आधारित टेस्ट (CBT) को टाल दिया गया था. रेलवे अब 15 दिसंबर से प्रथम चरण सीबीटी शुरू करने का प्रस्ताव दिया है.

चार लाख अभ्यर्थियों के आवेदन रिजेक्ट
आरआरबी ने चार लाख अभ्यर्थियों के आवेदन फोटो मैच नहीं होने सहित अन्य कारणों से रिजेक्ट कर दिए हैं. ऐसे में अभ्यर्थियों का आरोप है कि जिन फोटो और हस्ताक्षर से रेलवे की अन्य भर्ती परीक्षाओं में प्रवेश मिला है, अब उन्हें ही अवैध मानते हुए रिजेक्ट कर दिया गया. ऐसे में बोर्ड को करेक्शन का मौका देना चाहिए, नहीं तो आखिरी मौका होने के कारण उनका भविष्य खराब हो जाएगा.

एनटीपीसी कैटेगरी में 35 हजार पद
इस भर्ती परीक्षा में टेक्नीकल और नॉन टेक्नीकल दोनों तरह के पदों पर भर्तियां की जानी है. जिसमें नॉन टेक्नीकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) में टीसी, बुकिंग क्लर्क, कॉमर्शियल क्लर्क, ईसीआरसी जैसे पद आते हैं. अकेले इस कैटेगरी में ही 35 हजार से अधिक पद हैं.वहीं लेवल वन पदों की संख्या 1.03 लाख से भी अधिक हैं. 15 भाषाओं में इस परीक्षा का आयोजन किया जाएगा.