रविन्द्र जडेजा के शानदार प्रदर्शन पर आज भी है हर कोई फ़िदा

Facebook


टीम इंडिया के वे नाम हैं जिन्हें मैदान पर अपने कभी न पराजय मानने वाले जज्बे के लिए जाना जाता है. जडेजा एक ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने एमएस धोनी की ही तरह अपनी जिंदगी में बहुत प्रयास किया है, लेकिन आज जडेजा न केवल एक धमाकेदार गेंदबाज हैं, बल्कि साथ ही वो एक जबरदस्त बल्लेबाज व कमाल के फिल्डरों में से एक है. जडेजा की फिल्डिंग के तो क्या ही कहने? क्रिकेट का हर के दिग्गज जडेजा की फिल्डिंग का दीवाना है व अब क्रिकेटर उनकी फिल्डिंग का फैन बन गया है. ये खिलाड़ी कोई व नहीं, भारतीय टीम के पूर्व ओपनर हैं जिन्होंने जडेजा को आज तक का बेस्ट भारतीय फील्डर बताया है.

जडेजा की फील्डिंग की तारीफ करते हुए चोपड़ा ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल ‘आकाशवाणी’ पर कहा, ‘वो (जडेजा) पूरी तरह से धमाकेदार हैं, उनके पास एक रॉकेट आर्म है, उनके पास अभी वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे अच्छी टीम है. आप बस उनकी ग्राउंड कवरेज की बात की जाए तो, वह स्लिप पर फील्डिंग करते हुए बेस्ट नहीं है, लेकिन ये कुछ अर्थ नहीं है. ‘ जहां चोपड़ा ने जडेजा को हिंदुस्तान का ऑल टाइम बेस्ट फील्डर चुने जा चुके है. वहीं दूसरी तरफ सुरेश रैना, विराट कोहली, युवराज सिंह, कपिल देव व मोहम्मद कैफ को भी शानदार फिल्डर कहा गया है. चोपड़ा ने खासकर विराट व कपिल देव की फिल्डिंग की बहुत ज्यादा प्रशंसा की व कहा, ‘जैसा कि आप देख ही सकते हैं कि विराट कोहली ने एक खिलाड़ी के रूप में किस तरह विकास किया है. आपने उन्हें फील्डर के रूप में भी बढ़ते देखा है. विराट हर वक्त फील्डिंग से जुड़े रहना चाहते हैं, इसके साथ ही अपनी फिल्डिंग में लगातार सुधार करते रहते है व यही बात उन्हें सुपर स्पेशल बनाती है. ‘

चोपड़ा ने आगे बताया कि, ‘सभी ने कपिल देव को 1983 वर्ल्ड कप के फाइनल में विवियन रिचर्ड्स का कैच लेते हुए देखा है. उनके हाथ शानदार व बहुत ज्यादा चुस्त थे. ‘ कपिल व विराट के अतिरिक्त युवराज सिंह व मोहम्मद कैफ ऐसे फिल्डर थे जिन्होनें टीम इंडिया में फील्डिंग को लेकर एक खास तरह के जज्बे की शुरूआत की थी. युवराज व कैफ के आने से पहले भारतीय फिल्डर मैदान पर डाइव लगाने से डरते थे पर इन दोनों फील्डर्स ने सब कुछ बदल दिया व भारतीय क्रिकेट में फिल्डिंग के एक नए युग की शुरूआत की.

टीम इंडिया के वे नाम हैं जिन्हें मैदान पर अपने कभी न पराजय मानने वाले जज्बे के लिए जाना जाता है. जडेजा एक ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने एमएस धोनी की ही तरह अपनी जिंदगी में बहुत प्रयास किया है, लेकिन आज जडेजा न केवल एक धमाकेदार गेंदबाज हैं, बल्कि साथ ही वो एक जबरदस्त बल्लेबाज व कमाल के फिल्डरों में से एक है. जडेजा की फिल्डिंग के तो क्या ही कहने? क्रिकेट का हर के दिग्गज जडेजा की फिल्डिंग का दीवाना है व अब क्रिकेटर उनकी फिल्डिंग का फैन बन गया है. ये खिलाड़ी कोई व नहीं, भारतीय टीम के पूर्व ओपनर हैं जिन्होंने जडेजा को आज तक का बेस्ट भारतीय फील्डर बताया है.

जडेजा की फील्डिंग की तारीफ करते हुए चोपड़ा ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल ‘आकाशवाणी’ पर कहा, ‘वो (जडेजा) पूरी तरह से धमाकेदार हैं, उनके पास एक रॉकेट आर्म है, उनके पास अभी वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे अच्छी टीम है. आप बस उनकी ग्राउंड कवरेज की बात की जाए तो, वह स्लिप पर फील्डिंग करते हुए बेस्ट नहीं है, लेकिन ये कुछ अर्थ नहीं है. ‘ जहां चोपड़ा ने जडेजा को हिंदुस्तान का ऑल टाइम बेस्ट फील्डर चुने जा चुके है. वहीं दूसरी तरफ सुरेश रैना, विराट कोहली, युवराज सिंह, कपिल देव व मोहम्मद कैफ को भी शानदार फिल्डर कहा गया है. चोपड़ा ने खासकर विराट व कपिल देव की फिल्डिंग की बहुत ज्यादा प्रशंसा की व कहा, ‘जैसा कि आप देख ही सकते हैं कि विराट कोहली ने एक खिलाड़ी के रूप में किस तरह विकास किया है. आपने उन्हें फील्डर के रूप में भी बढ़ते देखा है. विराट हर वक्त फील्डिंग से जुड़े रहना चाहते हैं, इसके साथ ही अपनी फिल्डिंग में लगातार सुधार करते रहते है व यही बात उन्हें सुपर स्पेशल बनाती है. ‘

चोपड़ा ने आगे बताया कि, ‘सभी ने कपिल देव को 1983 वर्ल्ड कप के फाइनल में विवियन रिचर्ड्स का कैच लेते हुए देखा है. उनके हाथ शानदार व बहुत ज्यादा चुस्त थे. ‘ कपिल व विराट के अतिरिक्त युवराज सिंह व मोहम्मद कैफ ऐसे फिल्डर थे जिन्होनें टीम इंडिया में फील्डिंग को लेकर एक खास तरह के जज्बे की शुरूआत की थी. युवराज व कैफ के आने से पहले भारतीय फिल्डर मैदान पर डाइव लगाने से डरते थे पर इन दोनों फील्डर्स ने सब कुछ बदल दिया व भारतीय क्रिकेट में फिल्डिंग के एक नए युग की शुरूआत की.

Follow करें और दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here