यूरिक एसिड कंट्रोल:- यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए रोजाना खीरा, गाजर और जामुन का सेवन करें।

Uric Acid Control :- यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए रोजाना खाएं ककड़ी, गाजर और बेरीज

यूरिक एसिड कंट्रोल :- शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। जोड़ों का दर्द, पैर की उंगलियों, टखनों, घुटनों का दर्द, गठिया आदि की समस्या हो सकती है। ऐसे लक्षण दिखे तो तुरंत करें ये घरेलू उपाय।

जब किडनी की फिल्टरिंग क्षमता कम हो जाती है तो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है। जिससे हड्डियों के बीच में जमा हो जाने से उठने-बैठने आदि में परेशानी होती है। पैरों और जोड़ों में दर्द होता है। इसे नियंत्रित करने के लिए कुछ घरेलू उपाय किए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें- कमजोरी की वजह से अगर सांस फूलने लगे तो इन चीजों को डाइट में करें शामिल

संतरा खाओ

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए संतरा बहुत फायदेमंद होता है। संतरे में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी होता है। जो यूरिक एसिड को लेवल करने में काफी मददगार साबित होता है।

यह भी पढ़ें- अगर आपको धूल और मिट्टी से एलर्जी है तो घर से निकलने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

गाजर खाओ

गाजर और खीरा शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इनमें पर्याप्त मात्रा में पानी होता है। इनके सेवन से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। ऐसे में यूरिक एसिड भी नियंत्रित रहता है।

यह भी पढ़ें- फिट रहने के लिए कामकाजी महिलाएं और गृहिणियां घर पर ही करती हैं ये उपाय

पर्याप्त पानी पिएं-

पानी हमारे शरीर को डिटॉक्स करने का काम करता है। यानी यह पसीने के रूप में शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। अगर आप रोजाना खूब पानी पीते हैं, तो निश्चित रूप से यूरिक एसिड भी कंट्रोल में रहेगा।

यह भी पढ़ें- बच्चों को इस तरह तैयार करें मास्क पहनने के लिए फिर से संकोच नहीं करेंगे।

सेब खाएं-

सेब का सेवन करने से यूरिक एसिड कंट्रोल में रहता है। क्योंकि इसमें सभी पोषक तत्व होते हैं। जो शरीर में पहुंचकर यूरिक एसिड के प्रभाव को खत्म करने का काम करते हैं। इसलिए रोजाना कम से कम 1 सेब जरूर खाना चाहिए।

स्ट्रॉबेरी ब्लूबेरी खाएं

स्ट्रॉबेरी, ब्लू बेरी और बेरी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जो हमारे शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने में काफी मददगार होते हैं। क्योंकि यह यूरिक एसिड के क्रिस्टल को तोड़कर जोड़ों में जमा नहीं होने देता है। इससे जोड़ों के दर्द सहित अन्य कोई समस्या नहीं होती है।

.

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here