मॉनसून हेयर केयर Hair Care Tips for Women

Hair Care Tips

मॉनसून हेयर केयर Hair Care Tips for Women : ख़ूबसूरत-सी शाम है ये, बारिशों के घेरे में, महक रहा मेरा वजूद इस रेशमी अंधेरे में… ख़ुशबू ़कैद है इन ज़ुल्फ़ों में मेरी मुहब्बत की, हसरतें बिखरी हैं इनमें मेरी मदभरी चाहत की, बूंदें यूं लिपटी हैं इनसे जैसे हो सितारों की हसीन रौऩकें, फूल यूं सजे हैं इनमें जैसे हों दीवानों की मदभरी महफ़िलें…

– माइल्ड शैंपू से रोज़ हेयर वॉश करें.

– शैंपू करने से पहले ऑयल मसाज ज़रूर करें.

– कंडीशनर लगाना न भूलें.

– केमिकल फ्री शैंपू यानी हर्बल शैंपू यूज़ करें, तो बेहतर होगा.

– बहुत ज़्यादा गर्म पानी से बाल न धोएं. गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें.

– रात को सोने से पहले नारियल के तेल को हल्का-सा गर्म करके बालों में मसाज करें.

– गर्म तेल में करीपत्ते डालकर भी बालों व स्काल्प में मसाज कर सकती हैं, इससे बाल काले-घने बने रहेंगे.

– मॉनसून में अक्सर डैंड्रफ की समस्या बढ़ जाती है, जिससे स्काल्प में खुजली होने लगती है. हेल्दी स्काल्प व डैंड्रफ को दूर करने के लिए नीम के तेल से मसाज करें.

– नींबू के रस को एक मग पानी में मिला लें और शैंपू करने के बाद इस पानी से बालों को धोएं. नींबू से बालों में शाइन आएगी और डैंड्रफ से भी बचाव होगा.

– बीयर बालों के लिए बेहतरीन कंडीशनर का काम करती है. बालों को बीयर से रिंस करें और कुछ देर बाद ठंडे पानी से फाइनल रिंस करें.

– अगर बारिश में बाल भीग जाएं, तो घर आते ही शैंपू करें. बारिश के पानी से बाल व स्काल्प ड्राई हो जाते हैं.

– हेयर ड्रायर, हेयर कलर, हेयर स्टाइलिंग प्रोडेक्ट्स, हेयर स्ट्रेटनिंग इस मौसम में जितना संभव हो, अवॉइड करें.

– शॉर्ट और ट्रेंडी हेयर कट्स रखें. इस सीज़न में इन्हें मैनेज करना आसान होगा.

– हेल्दी बालों के लिए हेल्दी डायट भी ज़रूरी है. प्रोटीन, विटामिन ई और सी से भरपूर डायट लें. बादाम, फिश, अंडे, गाजर, साबूत अनाज, ब्रोकोली, ऑलिव्स, पालक, आंवला, टमाटर, सूरजमुखी के बीज, सिट्रस फ्रूट्स, डार्क कलर की सब्ज़ियां, किडनी बीन्स आदि डायट में शामिल करें और लो फैट डेयरी प्रोडक्ट्स खाएं.

मॉनसून हेयर पैक्स

मिल्क-हनी पैक: मॉनसून में यह आपके बालों के लिए परफेक्ट पैक है. यह बालों को पोषण भी देता है और क्लीन भी करता है. अपने बालों की लेंथ के अनुसार दूध लें और उसमें थोड़ा-सा शहद मिक्स करके बालों और स्काल्प पर अप्लाई करें. थोड़ी देर बाद माइल्ड शैंपू से धो लें.

लेमन थेरेपी: एक कप गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाएं. नहाने के बाद बालों और स्काल्प पर इसका इस्तेमाल करें. 20-25 मिनट बाद ठंडे पानी से फाइनल रिंस करें. इससे पोर्स टाइट होंगे, स्काल्प और बाल क्लीन होंगे, हेयरफॉल कम होगा.

–  बालों का चिपचिपापन ख़त्म करने के लिए नींबू का रस स्काल्प में लगाएं और 15 मिनट बाद रिंस कर लें.

एग कंडीशनर: 1 अंडे में 2 टेबलस्पून दही मिलाकर कंडीशनर के तौर पर लगाएं. इसे 15 मिनट तक लगाकर रखें. फिर रिंस कर लें. बालों को पोषण, शाइन व बाउंस मिलेगा.

मेथी मैजिक: मेथीदाने को रातभर पानी में भिगो दें. सुबह थोड़े-से पानी के साथ पीस लें. चाहें तो इसमें दही भी मिला सकती हैं. इस पेस्ट को स्काल्प व बालों में 20 मिनट तक लगाकर रखें, फिर धो लें. यह हेयरफॉल को कम करता है, बालों को पोषण देकर ग्रोथ बढ़ाता है, बालों को वॉल्यूम भी देता है.

योगर्ट मसाज: दही में बालों के लिए ज़रूरी मिनरल्स होते हैं. यह ड्राई स्काल्प व बालों की समस्या भी दूर करता है, ख़ासतौर से मॉनसून में. दही से बालों व स्काल्प की मसाज करें. कुछ देर बाद धो लें.

ऑलिव ऑयल: बालों की नमी बरक़रार रखने व उनमें शाइन लाने के लिए ऑलिव ऑयल सबसे बेहतर है. ऑलिव ऑयल में थोड़ा-सा दही मिक्स करें और बालों व स्काल्प में मसाज करें. कुछ देर रहने दें, फिर धो लें.

बनाना पैक: 3 केलों को मैश करके उसमें शहद मिलाएं. इस पेस्ट को 50 मिनट तक लगाकर रखें. यह मास्क बालों की ड्राइनेस को पूरी तरह से ख़त्म कर देता है.

अनियन जूस: प्याज़ में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो स्काल्प को क्लीन करती हैं. प्याज़ का रस स्काल्प पर लगाएं और अगर इसकी गंध से आपको परेशानी होती है, तो इसमें गुलाबजल मिला लें. कुछ देर लगा रहने दें, फिर माइल्ड शैंपू से धो लें.

आंवला जूस: आंवले के रस में समान मात्रा में नींबू का रस और नारियल तेल मिलाएं. बालों और स्काल्प में मसाज करें. कुछ देर बाद माइल्ड शैंपू से धो लें. यह बालों को असमय स़फेद होने से बचाता है, क्लीन करता है और शाइन लाता है.

आल्मंड ऑयल: दो भाग आल्मंड ऑयल में एक भाग शहद मिलाएं. इसे हल्का-सा गर्म करके बालों में अप्लाई करें. स्काल्प पर न लगाएं वरना बाल ऑयली हो जाएंगे. 15-20 मिनट बाद शैंपू कर लें. यह बालों को रिपेयर करता है.

विनेगर रिंस: स्काल्प में इचिंग की समस्या हो, तो शैंपू के बाद एक मग पानी में 1 टेबलस्पून विनेगर मिलाकर लास्ट रिंस करें. बहुत आराम मिलेगा.

फ्लावर थेरेपी: बालों में एक्स्ट्रा शाइन के लिए मुट्ठीभर गेंदे के फूलों को 3 कप गर्म पानी में मिलाएं. इसे 1 घंटे तक रहने दें. छानकर इस पानी से फाइनल रिंस करें.

नीम लीव्स: नीम के पत्तों को पानी में तब तक उबालें, जब तक पानी आधा न रह जाए. इसे ठंडा होने दें. बालों को इससे धोएं और फिर गुनगुने पानी से फाइनल रिंस करें. नीम में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं, जो मॉनसून में स्काल्प को हेल्दी रखती हैं.

मैंगो मूड: आम के पल्प और पुदीने का पेस्ट भी बालों को स्मूद व शाइनी लुक देता है. इस पेस्ट से मसाज करें और 15-20 मिनट बाद बालों को धो लें.

पपीता पैक: पपीते के पल्प को ब्लेंडर में ब्लेंड कर लें. इसमें आधा कप दही मिलाकर बालों और स्काल्प पर लगाएं. आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से धो लें. यह दोमुंहे बालों की समस्या भी ठीक करता है.

पुदीना लीव्स: पुदीने के पत्तों का पेस्ट बालों में अप्लाई करें. यह मास्क ऑयली हेयर के लिए बहुत फ़ायदेमंद है. 15-20 मिनट तक लगाकर रखें. रिंस कर लें.

एलोवीरा मास्क: एलोवीरा स्काल्प का पीएच बैलेंस बरक़रार रखता है. एलोवीरा पल्प से स्काल्प मसाज करें. एलोवीरा में ऐसे केमिकल्स होते हैं, जो बैक्टीरिया को ख़त्म करके हेल्दी सेल्स का निर्माण करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here