मुकेश अंबानी की बीमारी की खबर : RIL का शेयर 1 घंटे में 6 फीसदी टूटा, मार्केट कैप 70 हजार करोड़ घटा

बिजनेस डेस्क। पिछले करीब दो हफ्ते से सोशल मीडिया पर यह खबर चल रही है कि मुकेश अंबानी गंभीर रूप से बीमार हैं और लंदन में उनका ऑर्गन ट्रांसप्लान्ट किया गया है। इसके बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) का शेयर आज 1 घंटे में 6 फीसदी टूटा और इसके साथ ही कंपनी का मार्केट कैप 70 हजार करोड़ रुपए घट गया। एक हफ्ते के दौरान कंपनी के मार्केट कैप में 1 लाख करोड़ रुपए की कमी आई है। हालांकि, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी की तबीयत के बारे में कंपनी की ओर से कोई भी प्रतिक्रिया जाहिर करने से मना कर दिया गया है। बता दें कि इससे पहले इसी साल जुलाई में एक दिन आरआईएल का शेयर 6.2 फीसदी टूटा था। उस समय वह 1978 रुपए से घट कर 1798 रुपए पर आ गया था।

सोशल मीडिया पर चल रही बीमारी की चर्चा
मुकेश अंबानी के गंभीर रूप से बीमार होने की चर्चा सोशल मीडिया पर करीब दो हफ्ते से चल रही है। कहा जा रहा है कि उनका वजन करीब 30 किलो घट गया है और लंदन में उनका ऑर्गन ट्रासंप्लान्ट किया गया है। सोशल मीडिया पर यह चर्चा भी चल रही है कि मुकेश अंबानी की बीमारी की वजह से ही अंबानी फैमिली का कोई मेंबर आईपीएल (IPL) मैचों में नजर नहीं आ रहा है। ये मैच यूएई के शारजाह में हो रहे हैं। वहीं, देश के बड़े वकीलों में से एक हरीश साल्वे की लंदन में पिछले हफ्ते हुई शादी मे मुकेश अंबानी ने वेबिनार के जरिए अपनी मौजूदगी दर्ज कराई थी।

4e3adbb7182e565d8fc49c25090ba527?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

बीमारी की प्रामाणिक खबर नहीं 
कुछ ब्रोकरेज हाउसेस का मानना है कि मुकेश अंबानी की बीमारी के बारे में कोई प्रामाणिक खबर नहीं आई है। जब तक पूरी तरह से पुष्ट जानकारी नहीं आ जाती, इसके बारे में कुछ भी कहना गलत होगा। वहीं, इसका आरआईएल के शेयरों पर असर दिखा है। ब्रोकरेज हाउसेस का कहना है कि शेयर रिलायंस और फ्यूचर रिटेल के बीत हुई डील में बाधा आ जाने से भी टूट सकते हैं। शनिवार को कंपनी के खराब रिजल्ट की वजह से शेयर पर दबाव है। वहीं, कुछ ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि रिजल्ट इतने भी खराब नहीं कि शेयर 6 फीसदी तक टूट जाएं। इसके पीछे कोई और बात हो सकती है।

1940 रुपए पर चला गया शेयर
सोमवार सुबह रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर टूट कर 1940 रुपए तक चला गया। यह पिछले 4 महीने में सबसे निचला स्तर है। इससे एक घंटे में ही कंपनी का मार्केट कैप 70 हजार करोड़ रुपए घट गया है। कंपनी का मार्केट कैप 23 अक्टूबर से लेकर अब तक 1 लाख करोड़ रुपए घटा है।