मंगेतर से परेशान होकर युवती ने लगाई फांसी, अमेजन कंपनी में थी फील्ड मैनेजर

eb0d0813d22744c78164ef3f952d58b3?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

गुरुग्राम (ब्यूरो): सेक्टर-14 थाना क्षेत्र में एक पीजी में रह रहने वाली युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसकी पहचान 28 वर्षीय अनु श्रीवास्तव के रूप में की गई है, जो अमेजन कंपनी की क्षेत्रीय प्रबंधक (फील्ड मैनेजर) पद पर कार्यरत थी। पुलिस के मुताबिक वह रविवार को ही अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह मूल रूप से उत्तरप्रदेश के कानपुर जिले की आंबेडकर नगर की रहने वाली थीं। मां सुधा श्रीवास्तव ने अनु के मंगेतर मूल रूप से उत्तरप्रदेश के प्रयागराज निवासी सुधांशु श्रीवास्तव पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। शिकायत के आधार पर सेक्टर-14 थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। 

जानकारी के अनुसार अनु श्रीवास्तव गुरुग्राम में ही एक मल्टीनेशनल कंपनी में साफ्टवेयर इंजीनियर सुधांशु श्रीवास्तव को आठ साल से जानती थी। दोनों की शादी 11 दिसंबर को होनी थी। आरोप है कि शादी फाइनल होने के बाद सुधांशु ने कहा कि उसके यहां तिलक में हार व कंगन देने की रश्म है। अगर हार व कंगन नहीं दे सकते फिर शादी नहीं होगी।

eb0d0813d22744c78164ef3f952d58b3 1?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

इसके बाद सुधांशु किसी न किसी बहाने अन्नु को परेशान करने लगा। 26 अक्टूबर को अन्नु की छोटी बहन खुशबू श्रीवास्तव शादी की तैयारी कराने को लेकर गुरुग्राम पहुंची थी। उसके सामने भी एक बार सुधांशु का फोन अनु के पास आया था। वह सुबह-सुबह गुड मार्निंग न बोलने पर शादी तोडऩे की धमकी दे रहा था। 

सात नवंबर को खुशबू कानपुर चली गई। आठ नवंबर को दिन में अनु ने खुशबू से सामान्य रूप से बात की थी। शाम लगभग पौने छह बजे अनु की सहेली लक्ष्मी के पास सुधांशु ने फोन करके कहा कि अनु उसका फोन नहीं उठा रही है। लक्ष्मी जब पीजी में पहुंची तो कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। बालकनी के रास्ते खिड़की से देखा तो वह फंदे से लटकी हुई थीं। 

जांच अधिकारी ने बताया कि आरोपित गुरुग्राम में कहां रहता है, यह जानकारी अनु के स्वजनों को नहीं है। सोमवार दोपहर शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप दिया गया। उसकी गिरफ्तारी से ही पूरी सच्चाई सामने आएगी।