भाई बहन से पति पत्नी बने इस जोड़े ने ये साबित कर दिया कि प्यार सच में अँधा होता है

भाई बहन से पति पत्नी बने इस जोड़े ने ये साबित कर दिया कि प्यार सच में अँधा होता है

इसमें कोई शक नहीं कि आज के जमाने में लोग अपने रिश्तो और अपनी मर्यादाओ को भूलते जा रहे है. जी हां जैसे जैसे कलयुग का दौर आगे बढ़ता जा रहा है, वैसे वैसे रिश्तो की परिभाषा भी बदलती जा रही है. यानि आज के समय में रिश्तो का कोई मोल ही नहीं बचा है. बरहलाल आज जिस खबर से हम आपको रूबरू करवाने जा रहे है, उसे जानने के बाद आप भी ये कहने के लिए मजबूर हो जायेंगे कि प्यार वास्तव में अँधा होता है.

गौरतलब है, कि ये किस्सा यमुनानगर का है. जी हां दरअसल यमुनानगर में ऑनर किलिंग के डर से एक प्रेमी जोड़ा लगातार चार घंटे तक एक वकील के चैम्बर में मेज के नीचे ही छिपा रहा. बता दे कि लड़की के घर वाले बाहर ही खड़े थे, जिसके चलते वो दोनों मेज के नीचे छुपे हुए थे. ऐसे में वकील ने पुलिस को बुलाया और फिर दोनों को कोर्ट में पेश किया गया. गौरतलब है, कि जज ने उन्हें पुलिस की सुरक्षा में एक सेफ घर में भेज दिया. आपको जान कर हैरानी होगी कि ये प्रेमी जोड़ा पहले एक दूसरे के भाई बहन थे.

अब आप सोच रहे होंगे कि ये कैसे हो सकता है. वैसे आपको ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है, क्यूकि हम आपको पूरी बात विस्तार से बताते है. दरअसल बात ये है, कि एक साल पहले लड़की की मुलाकात अपनी मौसी की जेठानी के बेटे से हुई थी. बस तभी इन दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया और अपने प्यार को अधिक मजबूत करने के लिए यानि एक दूसरे से शादी करने के लिए घर से भाग गए. बता दे कि ये दोनों 21 जुलाई को घर से फरार हुए थे और 22 जुलाई को इन दोनों ने दुर्गा के मंदिर में शादी रचा ली.

हालांकि शादी के बाद भी इन दोनों को परिवार का डर सता रहा था, क्यूकि वो इस रिश्ते के खिलाफ थे. ऐसे में इन दोनों ने कोर्ट में जाकर सुरखा देने की अपील मांगी और 24 जुलाई को सुरक्षा के लिए अपील करनी थी. मगर अफ़सोस कि उनके इस कदम के बारे में उनके रिश्तेदारों को पता चल गया. जिसके चलते घर के लोग पहले ही कोर्ट के गेट पर आकर खड़े हो गए और उन्हें ढूढ़ने लगे. इसके बाद उस प्रेमी जोड़े ने महिला हेल्प लाइन पुलिस कण्ट्रोल में फोन करके सहायता मांगी. वही पुलिस भी अपना फर्ज निभाते हुए मौके पर वहां पहुँच गई और फिर उन्हें कोर्ट के आदेश से पहले ही सुरक्षा प्रदान की गई.

गौरतलब है, कि पुलिस सुरक्षा के तहत उस प्रेमी जोड़े को सेशन जज जगदीप जैन की अदालत में पेश किया गया और अंत में जज ने उन्हें एक सुरक्षित घर में भेज दिया. इसके इलावा अगर सूत्रों की माने तो ऐसा सुनने में आया है, कि लड़की की मौसी देवधर में रहती है और लड़का वहां किसी की शादी में गया था. बस इसी दौरान दोनों की मुलाकात हुई और दोनों में प्यार हो गया. वैसे प्रेमी गौरव का कहना है, कि मौसी के रिश्तेदारों को हमारे प्यार के बारे में पता चल गया था. जिसके चलते वो लड़की की शादी कही और करना चाहते थे. ऐसे में उन दोनों ने भागने का फैसला किया और शादी कर ली.

बरहलाल यूँ तो हम हमेशा यही दुआ करते है कि हर किसी को उसका प्यार मिल जाएँ पर इस तरह भाई बहन के रिश्ते को ताक पर रख कर पति पत्नी का रिश्ता बनाना भी बिलकुल गलत है. जिसे हमारा समाज कभी स्वीकार नहीं कर सकता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here