बलरामपुर पीड़िता के परिजनों ने सरकार से बेटे की नौकरी सहित की ये मांग

balrampur gangrape victim family

मंगलवार को बलरामपुर गैंगरेप की पीड़िता के परिजनों ने DM और SP को ज्ञापन सौंपा. पीड़ता के परिवार ने हादसे के बाद सरकार से मुआवजे के तौर पर एक करोड़ रुपयों की मांग की

Written By : अनिल यादव | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 06 Oct 2020, 09:59:07 PM

बलरामपुर पीड़िता के परिजन (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्‍ली:

उत्तर प्रदेश के हाथरस गैंगरेप (Hathras Gangrape) के बाद बलरामपुर में हुए गैंगरेप ने यूपी की कानून व्यवस्था को तार-तार कर दिया है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बलरामपुर गैंगरेप के मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए सूबे के आला अफसरों को पीड़िता के घर भेजा और उन्हें सांत्वना दी. मंगलवार को बलरामपुर गैंगरेप की पीड़िता के परिजनों ने DM और SP को ज्ञापन सौंपा. पीड़ता के परिवार ने हादसे के बाद सरकार से मुआवजे के तौर पर एक करोड़ रुपयों की मांग की इसके अलावा पीड़ित परिवार ने अपने बेटे के लिए सरकारी नौकरी के अलावा जमीन का पट्टा और बेटे के लिए सस्त्र लाइसेंस की मांग की है. 

अभी हाथरस में 19 वर्षीय दलित लड़की की कथित सामूहिक दुष्कर्म के बाद मौत का मामला शांत नहीं हुआ था कि, इस बीच उत्तर प्रदेश में एक और जगह से ऐसी की घटना सामने आई है. प्रदेश के बलरामपुर जिले में 22 वर्षीय दलित लड़की के साथ दो युवकों ने दुष्कर्म किया. युवती की हालत गंभीर होने के बाद उसे परिजन अस्पताल लेकर जा रहे थे, मगर पीड़िता ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया था. आपको बता दें कि यह घटना बलरामपुर जिले के गैसड़ी क्षेत्र की है. बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा के अनुसार, अनुसूचित जाति की 22 वर्षीय लड़की एक निजी कंपनी में काम करती थी. मंगलवार की शाम जब लड़की समय पर घर नहीं पहुंची तो उसके माता पिता ने उसकी तलाश शुरू की. लेकिन उनकी बेटी का कुछ पता नहीं चल सका. पुलिस के मुताबिक, लड़की के माता- पिता ने बताया कि उनकी बेटी कुछ बाद में एक ऑटो रिक्शा के जरिए घर पहुंची. लड़की की हालत गंभीर थी.

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि उसके माता पिता लड़की को अस्पताल ले जाने लगे, लेकिन रास्ते में लड़की की मौत हो गई. उन्होंने ने कहा कि अस्पताल से मामले की सूचना पुलिस को मिलने के बाद माता- पिता ने आरोप लगाया कि लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था. परिजनों ने जिन लोगों पर आरोप लगाए हैं, उनकी शिकायत के आधार पर पुलिस ने उन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

उल्लेखनीय है कि हाथरस में 19 वर्षीय दलित युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और बाद में उसकी मौत पर देशभर में गुस्से का माहौल है. कथित तौर पर चार पुरुषों द्वारा युवती का दुष्कर्म किया गया था, जिन्हें बाद में हिरासत में ले लिया गया. शुरुआत में पीड़िता को अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ले जाया गया था, लेकिन सोमवार की रात उसकी हालत बिगड़ने के बाद उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी मौत हो गई थी.

संबंधित लेख



First Published : 06 Oct 2020, 08:52:59 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link