प्रेम विवाह करने वाले युवक ने जिलाधीश के समक्ष की इच्छामृत्यु की मांग

प्रेम विवाह करने वाले युवक ने जिलाधीश के समक्ष की इच्छामृत्यु की मांग

प्रेम विवाह के बाद युवती के परिजनों की प्रताड़ना से युवक है त्रस्त सुरेन्द्रनगर में एक अजीब केस सामने आया है। इसमें प्रेमिका के साथ प्रेम विवाह करनेवाले एक युवक ने सुरेन्द्रनगर जिला कलेक्टर कचहरी में इच्छामृत्यु की मांग के साथ एक आवेदन दिया है। प्रेम विवाह के कारण युवक ने इच्छामृत्यु की मांग की है जिससे खलबली मच गई थी। युवक का इस प्रकार की अर्जी करने का कारण प्रेमिका नहीं अपितु युवक के समाज के अग्रणी हैं। समाज के अग्रणी युवक को प्रेमिका से तलाक लेने के लिए दबाव डाल रहे थे और अंत में उसने समाज के अग्रणियों के दबाव से परेशान होकर कलेक्टर कचहरी में अपनी इच्छामृत्यु की मांग की है। रिपोर्ट के अनुसार सुरेन्द्र नगर के लखतर तहसील में स्थित केसरिया गांव में परिवार के साथ रहनेवाले दीपक वाघेला नामक युवक को अपनी जाति की ममता नामक युवती के साथ प्रेम संबंध बना था। परिवार और जाति के लोग दोनों के प्रेम संबंध को नहीं स्वीकारेंगे इसलिए दीपक वाघेला ने ममता के साथ दूसरे गांव में जाकर कोर्ट मैरेज कर लिया था। समाज के लोगों […]

(PC: news18.com)

प्रेम विवाह के बाद युवती के परिजनों की प्रताड़ना से युवक है त्रस्त

सुरेन्द्रनगर में एक अजीब केस सामने आया है। इसमें प्रेमिका के साथ प्रेम विवाह करनेवाले एक युवक ने सुरेन्द्रनगर जिला कलेक्टर कचहरी में इच्छामृत्यु की मांग के साथ एक आवेदन दिया है। प्रेम विवाह के कारण युवक ने इच्छामृत्यु की मांग की है जिससे खलबली मच गई थी। युवक का इस प्रकार की अर्जी करने का कारण प्रेमिका नहीं अपितु युवक के समाज के अग्रणी हैं। समाज के अग्रणी युवक को प्रेमिका से तलाक लेने के लिए दबाव डाल रहे थे और अंत में उसने समाज के अग्रणियों के दबाव से परेशान होकर कलेक्टर कचहरी में अपनी इच्छामृत्यु की मांग की है।

da62bda3154cbcfcf625e51a1971088d 1?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

रिपोर्ट के अनुसार सुरेन्द्र नगर के लखतर तहसील में स्थित केसरिया गांव में परिवार के साथ रहनेवाले दीपक वाघेला नामक युवक को अपनी जाति की ममता नामक युवती के साथ प्रेम संबंध बना था। परिवार और जाति के लोग दोनों के प्रेम संबंध को नहीं स्वीकारेंगे इसलिए दीपक वाघेला ने ममता के साथ दूसरे गांव में जाकर कोर्ट मैरेज कर लिया था। समाज के लोगों के डर से दीपक और ममता ने प्रेम विवाह किया, उसके बाद तुरंत पुलिस स्टेशन में उपस्थित हुए। इस तरह पुलिस ने जानकारी दी।

जब दीपक और ममता शादी करके गांव में आए तो पंचायत द्वारा एक तुगलकी निर्णय लिया गया। पंचायत ने दीपक को जाति की लडक़ी के साथ प्रेम विवाह करने पर दीपक और उसके परिवार को समाज से बाहर करने का निर्णय दिया गया। इसके अलावा समाज के अग्रणियों द्वारा दीपक पर गलत केस करके जेल में धकेलने की भी धमकी दी गई ।

da62bda3154cbcfcf625e51a1971088d 2?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

समाज के अग्रणी दीपक को प्रेमिका से अलग करना चाहते थे। इस कारण से दीपक ने सुरेन्द्र नगर जिला कलेक्टर को अर्जी लिखकर अपनी इच्छामृत्यु की मांग की थी। दीपक ने अर्जी में कहा कि मैं और ममता पिछले चार वर्ष से प्रेम संबंध में हैं और दो जुलाई 2020 को हम दोनों ने राजीखुशी से कोर्ट मैरेज किया है। विवाह में मैं अपनी पत्नी के साथ बाहरगांव रहने चला गया और उसके बाद मेरे केसरिया गांव में 14 समाज के लोग एकत्र हुए थे और मेरी शादी के बारे में सभी लोगों ने एक निर्णय किया था।

da62bda3154cbcfcf625e51a1971088d 3?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

इसमें केसरिया गांव के लोगों नेे मेरी पत्नी को गांव के घर में बंद कर दिया था और तीन महीने होने के बावजूद भी मेरी पत्नी को मेरे घर भेजा नहीं गया। ये लोग अब मुझे और मेरे दोस्तों को जेल में डालने की धमकी देते हैं। हम दोनों की एक ही सरनेम होने के कारण समाज के लोगों ने आपत्ति दर्ज कराई थी। ये लोग ऐसा कहते थे कि एक सरनेम होने से शादी नहीं हो सकती है।

प्यार करना कोई अपराध है तो मुझे यह अपराध स्वीकृत है और ये लोग मुझे तलाक के कागज पर हस्ताक्षर करने के लिए दबाव डालते हैं। मेरे पिता की सरकारी नौकरी होने के कारण उन्हें सस्पेन्ड कर देने के कई प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अलावा मुझे अपने दोस्तों पर गलत केस करने की धमकी दे रहे हैं। इन सभी लोगों से परेशान हो गया हूं और इसलिए अपनी इच्छामृत्यु की अर्जी दिया हूं।