पेसरों को मददगार हालात में न्यूजीलैंड को मिल सकता है फायदा : Brett Lee – Stress Buster

पेसरों को मददगार हालात में न्यूजीलैंड को मिल सकता है फायदा : Brett Lee - Stress Buster

आस्टेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा है कि साउथेम्पटन में स्विंग और सीम गेंदबाजों को हमेशा से मदद मिली है और ऐसे में भारत के साथ होने वाले विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में न्यूजीलैंड को फायदा हो सकता है। ली ने कहा कि जो टीम बेहतर गेंदबाजी करेगी, वही टेस्ट चैम्पियनशिप का खिताब जीतेगी।

आईसीसी को दिए इंटरव्यू में ली ने कहा, “मेरी समझ से अगर बल्लेबाजी को लिया जाए तो यह बराबरी का मुकाबला होगा। दोनों के बाद ऐसे कई काबिल बल्लेबाज हैं जो स्विंग गेंदबाजी को अच्छी तरह खेल सकते हैं लेकिन गेंदबाजी इस मैच में असल अंतर पैदा करेगी। कीवी टीम को फायदा मिल सकता है क्योंकि साउथेम्पटन के हालात उनके घर जैसे हैं।”

44 साल के ली ने आस्ट्रेलिया के लिए 76 टेस्ट मैचों में 310 विकेट लिए हैं। ली ने कहा कि इस न्यूट्रल वेन्यू की पिच सुपर फास्ट नहीं होगी लेकिन इसमें फास्ट बॉलर्स के लिए काफी कुछ होगा।

ली ने आगे कहा, “मेरी समझ से इस पिच पर बल्लेबाजोंको परेशानी नहीं होनी चाहिए लेकिन अगर अच्छी गेंदबाजी होती है और जो टीम अच्छी गेंदबाजी करेगी, वह अंतर पैदा कर सकेगी।”

ली के मुताबिक ड्यूक बॉल को सम्भाल पाना काफी बड़ी चुनौती होगी क्योंकि यह काफी स्विंग करती है।

ली ने कहा, “इंग्लैंड में ड्यूक बॉल काफी स्विंग करती है। ऐसे में उन गेंदबाजों को फायदा मिलेगा, जिनके पास ड्यूक बॉल से गेंदबाजी का अनुभव है और जो इसे स्विंग करा सकते हैं। न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को ड्यूक बॉल पसंद आ सकती है।”

ली ने डब्ल्यूटीसी फाइनल का समर्थन करते हुए कहा कि इससे क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप को प्रोत्साहन मिला है।

ली ने कहा, 50 ओवर का विश्व कप या टी20 विश्व कप जीतने पर एक बड़ा पुरस्कार मिलता है लेकिन टेस्ट मैच के लिए कुछ भी नहीं था। आपको नंबर-1 टेस्ट रैंकिंग मिल सकती है, जिसके अपने मायने हैं लेकिन यह है अब डब्ल्यूटीसी फाइनल के माध्यम से अब यह पता लग जाएगा कि दुनिया में सबसे अच्छी टेस्ट टीम कौन सी है।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस


Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here