पीएम मोदी जैसे ही बोले-‘मां! तुम छठ की तैयारी करो, दिल्ली में तुम्हारा बेटा बैठा है’, वहां मौजूद लोगों ने…

868c2060965abc77822d019dc697832d?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

नई दिल्ली। रविवार को पीएम मोदी ने बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर छपरा में रैली की। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि, भाजपा के लिए, एनडीए के लिए आपका ये प्रेम कुछ लोगों को अच्छा नहीं लग रहा है, रात को उन्हें नींद नहीं आ रही है। कभी-कभी तो अपने ही कार्यकर्ताओं से मारकर फेंकते हैं। उनकी हताशा-निराशा, बौखलाहट, गुस्सा, अब बिहार की जनता बराबर देख रही है। चेहरे से हंसी गायब हो गई है। उन्होंने कहा कि, बिहार के लोगों को उनकी भावनाओं को ये लोग कभी समझ नहीं सकते। ये अपने परिवार के पैदा हुए हैं, अपने परिवार के जी रहे हैं, अपने परिवार के लिए ही जूझ रहे हैं। उन्हें न बिहार से कोई लेना देना है और न बिहार की युवा पीढ़ी से कोई लेना देना है। राहुल गांधी और तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि, बिहार चुनाव में डबल-डबल युवराज अपने-अपने सिंहासन को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं।

868c2060965abc77822d019dc697832d 1?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

वहीं कोरोना काल में पैदा हुई परिस्थितियों को लेकर पीएम मोदी ने बिहार की महिलाओं की चिंता को समझते हुए कहा कि कोरोना के काल में किसी मां को ये चिंता करने की जरूरत नहीं है कि छठ पूजा को कैसे मनाएंगे। अरे मेरी मां! आपने अपने बेटे को दिल्ली मैं बैठाया है, तो क्या वो छठ की चिंता नहीं करेगा! मां! तुम छठ की तैयारी करो, दिल्ली में तुम्हारा बेटा बैठा है।

पीएम मोदी के इतना कहते ही वहां मौजूद लोगों ने पीएम मोदी के लिए खड़े होकर ताली बजाई और उनकी इस भावनात्मक बात का स्वागत किया।

उन्होंने कहा कि, दुनिया में आज कोई ऐसा नहीं है, जिसे कोरोना ने प्रभावित न किया हो, जिसका इस महामारी ने नुकसान न किया हो। एनडीए की सरकार ने कोरोना की शुरुआत से ही प्रयास किया है कि वो इस संकटकाल में देश के गरीब, बिहार के गरीब के साथ खड़ी रहे।

868c2060965abc77822d019dc697832d 2?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

गौरतलब है कि बिहार चुनाव के बीच पीएम मोदी का यह तीसरा बिहार दौरा है। मुजफ्फरपुर में आयोजित रैली के दौरान प्रधानमंत्री ने बिना नाम लिए महागठबंधन के मुख्यमंत्री उम्मीदवार तेजस्वी यादव पर निशाना साधा था। उन्होंने तेजस्वी यादव को ‘जंगलराज का युवराज’ करार दिया था।