दुनियाभर में पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केन्द्र है जयपुर, इन जगहों पर जरूर जाएं

दुनियाभर में पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केन्द्र है जयपुर, इन जगहों पर जरूर जाएं

जयपुर वास्तुशिल्प रत्नों से समृद्ध, संस्कृति और विरासत का एक अद्भुत वंडरलैंड है। यहां पर घूमने के लिए एक या दो नहीं, बल्कि कई बेहतरीन जगहें मौजूद हैं।

पिंक सिटी के नाम से जाना जाने वाला जयपुर शहर सिर्फ देशभर में ही नहीं, बल्कि दुनियाभर में पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केन्द्र है। जयपुर वास्तुशिल्प रत्नों से समृद्ध, संस्कृति और विरासत का एक अद्भुत वंडरलैंड है। यहां पर घूमने के लिए एक या दो नहीं, बल्कि कई बेहतरीन जगहें मौजूद हैं। जिनके बारे में आज हम आपको इस लेख में बता रहे हैं-

जयगढ़ का किला

अगर जयपुर में घूमने के स्थानों की बात हो और उसमें जयगढ़ के किले का नाम ना लिया जाए, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। समुद्र तल से 500 फीट की ऊंचाई पर खड़ा यह 18 वीं सदी का किला एक ताज की तरह अरावली पर्वतमाला में ईगल की पहाड़ी को सुशोभित करता है। यह इस देश के शासकों के लिए तोपखाने के उत्पादन का एक प्रमुख केंद्र था। जयगढ़ किले का एक मुख्य आकर्षण जयवाना तोप है, जो कभी पहियों पर दुनिया की सबसे बड़ी तोप थी।

इसे भी पढ़ें: भारत की इन जगहों के प्राकृतिक सौंदर्य को देखकर आप भी रह जाएंगे चकित

सिटी पैलेस

शहर के केंद्र में स्थित, सिटी पैलेस जयपुर के सबसे उल्लेखनीय पर्यटक आकर्षणों में से एक है। इस महल की वास्तुकला राजपूत और मुगल शैलियों का एक शानदार मिश्रण है। विशाल उद्यान, आंगन, हॉल, शाही निवास और कला दीर्घाओं से सुसज्जित, इस महल का हर हिस्सा राजपुताना महिमा को दर्शाता है। महल में एक संग्रहालय भी है जहां आप महाराजा सवाई मान सिंह द्वितीय और महाराजा सवाई माधोसिंह प्रथम द्वारा इस्तेमाल किए गए शाही परिधानों को भी देख सकते हैं।

हवा महल

हवा महल लाल और गुलाबी बलुआ पत्थर से निर्मित पांच मंजिला पिरामिडनुमा इमारत है और यह जयपुर में सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है। 1799 में महाराजा सवाई प्रताप सिंह द्वारा निर्मित, इसमें 953 छोटी खिड़कियां हैं। इस इमारत के आंतरिक कक्ष खिड़कियों की अविश्वसनीय जाली के माध्यम से यहां पर हवा का एक अलग ही आनंद ले सकते हैं। यदि आप हवा महल की चोटी पर चढ़ते हैं, तो आप सिटी पैलेस और वहाँ से जंतर मंतर के अद्भुत नज़ारे देख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: दुबई में रमजान के दौरान रेस्तरां को पर्दे से ढकने की अनिवार्यता खत्म हुई

जंतर मंतर 

जंतर मंतर एक खगोलीय वेधशाला है जो 1734 की है और इसे महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय के आदेशों के तहत बनाया गया था। यह दुनिया की सबसे बड़ी सूर्यघड़ी है, जो पत्थरों से बनी है। इस स्थान को यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल घोषित किया है और जयपुर में घूमते समय आपको जंतर मंतर की यात्रा जरूर करनी चाहिए।

मिताली जैन

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here