दिवाली और धनतेरस के दौरान सस्ते में सोना खरीदने का सुनहरा मौका

दिवाली और धनतेरस के दौरान सस्ते में सोना खरीदने का सुनहरा मौका

मुंबई :

Sovereign Gold Bond Scheme 2020-21 Series VIII: अगर आप दिवाली (Diwali 2020) और धनतेरस के दौरान सस्ता सोना (Gold Rate Today) खरीदने की योजना बना रहे हैं तो यह खबर सिर्फ और सिर्फ आपके लिए ही है. दरअसल, स्वर्ण बॉन्ड (RBI Gold Bond) की अगली किस्त के लिए 5,177 रुपये प्रति ग्राम का भाव तय किया गया है. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India-RBI) ने यह जानकारी साझा की है.

दिल्ली, मुंबई और चेन्नई समेत देश के बड़े शहरों के सोने-चांदी के आज के रेट जानने के लिए यहां क्लिक करें

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना 2020- 21 (RBI Sovereign Gold Bond Scheme) की आठवीं श्रृंखला के लिए आवेदन 9 नवंबर से 13 नवंबर 2020 के बीच स्वीकार किए जाएंगे. 

यह भी पढ़ें: Angel Broking की इस सुविधा के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश करना होगा बेहद आसान

बॉन्ड की तय कीमत पर प्रति ग्राम 50 रुपये की मिलेगी छूट

आरबीआई ने कहा कि स्वर्ण बॉन्ड के लिये इंडियन बुलियन एण्ड जूलर्स एसोसिएशन लिमिटेड (India Bullion And Jewellers Association Ltd-IBJA) द्वारा 999 शुद्धता के सोने के प्रकाशित सामान्य औसत बंद भाव पर आधारित है. इसके तहत दाम 5,177 रुपये प्रति ग्राम तय हुआ है. रिजर्व बैंक ने कहा है कि सरकार ने केंद्रीय बैंक के साथ विचार विमर्श के बाद यह तय किया है कि स्वर्ण बॉन्ड के लिये ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों को बॉन्ड की तय कीमत पर प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट दी जायेगी. ऐसे निवेशकों को आवेदन के साथ भुगतान भी डिजिटल तरीके से ही करना होगा. 

यह भी पढ़ें: आम आदमी को बड़ा झटका, आलू-प्याज के बाद तेल में भी लगा महंगाई का तड़का

ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिये स्वर्ण बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,127 रुपये 

रिजर्व बैंक ने कहा कि ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिये स्वर्ण बॉन्ड का निर्गम मूल्य 5,127 रुपये प्रति ग्राम होगा. ये बॉन्ड आठ साल की अवधि के लिये जारी किये जाते हैं और पांच साल के बाद इससे बाहर निकलने का विकल्प भी होता है. आवेदन कम से कम एक ग्राम और उसके गुणक में जारी किये जाते हैं. व्यक्तिगत निवेशक न्यूनतम एक ग्राम और अधिकतम चार किलो तक के लिये निवेश कर सकता है. हिन्दू अविभाजित परिवार के लिये चार किलो और ट्रस्ट आदि के लिये किसी एक वित्त वर्ष में अधिकतम 20 किलो तक निवेश की अनुमति है.

संबंधित लेख



Source link