दलित परिवार का जबरन कराया धर्म परिवर्तन, फिर दी जान से मारने की धमकी

alwar

राजस्‍थान के अलवर (Alwar) में एक दलित परिवार का जबरन धर्म परिवर्तन (conversion) कराने का मामला सामने आया है. परिवार ने दोबारा से इस्‍लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया. अब कोर्ट में जाकर सुरक्षा की गुहार लगाई है.

दलित परिवार का जबरन कराया धर्म परिवर्तन, फिर दी जान से मारने की धमकी (Photo Credit: फाइल फोटो)

अलवर:

राजस्थान के अलवर जिले के बड़ौदा मेव थाना इलाके में एक दलित परिवार के धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है. भयाड़ी गांव में रहने वाले एक परिवार का आरोप है कि दलित जिस धर्म में शामिल हुआ था, वहां उसके ऊपर दथित अत्याचार के बाद उसने दोबारा से हिंदू धर्म अपना लिया. परिवार ने अब कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई है. परिवार ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की है. 

यह भी पढ़ेंः आठवें दौर की वार्ता आज, चीनी सैनिकों के पीछे हटने पर जोर देगा भारत

जानकारी के मुताबिक भयाड़ी गांव में रहने वाले मेमचंद उर्फ मोहम्मद अन्नस पुत्र काडू जाटव ने बताया कि उनके गांव में हरियाणा के फिरोजपुर झिरका के इब्राहिम बास गांव के मेव समाज के लोगों की रिश्तेदारी है. ये लोग अक्सर गांव में आते रहते हैं. मेमचंद का आरोप है कि सत्तार, तैयब और शहजाद सहित 15 अन्य लोग उनका जबरन धर्म परिवर्तन कराने के लिये उन्हें हरियाणा ले गए. वहां उनका खतना भी कराया गया.

जम्मू कश्मीर जमात में भी ले गए आरोपी
मेमचंद का आरोप है कि उसे रहने के लिए जमीन दी गई. पीड़ित ने कहा कि आरोपी उसे लेकर जम्मू कश्मीर भी गए. वहां उसे एक जमात में भी शामिल किया गया. वहां आरोपियों ने उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी. उससे कहा कि अगर कुछ किया तो तुम्हारी जान को खतरा हो सकता है. 

यह भी पढ़ेंः कोरोना काल में विदेश से आने वालों के लिए नए दिशा-निर्देश जारी

बीवी पर गंदी नजर रखने का आरोप
पीड़ित का आरोप है कि उसका धर्म परिवर्तन करने के बाद उसकी बीवी पर भी गंदी नजर रखी गई. उससे जबरन संबंध बनाने के लिये दबाव बनाया गया. पीड़ित ने बताया कि किसी तरह वह कश्मीर से भाग निकला. इसके बाद उसने इस संबंध में परिवाद दायर किया. कुछ दिनों पहले भी धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया था. 

संबंधित लेख



First Published : 06 Nov 2020, 07:51:04 AM

For all the Latest States News, Rajasthan News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link