तेजस्वी यादव का बिहार का अगला मुख्यमंत्री बनना तय, जानें क्या है एग्जिट पोल के वायरल स्क्रीनशॉट्स का सच

861e0ee1bf03da0b624f90dd618b5981?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

बिहार विधानसभा चुनाव के दो चरण की वोटिंग हो चुकी है। तीसरे और आखिरी चरण की वोटिंग 7 नवंबर को होनी है। इस बीच सोशल मीडिया पर एग्जिट पोल के कुछ स्क्रीनशॉट्स वायरल हो रहे हैं। जिनमें लिखा है कि, बिहार चुनाव में तेजस्वी यादव की पार्टी सबसे आगे चल रही है और उनका मुख्यमंत्री बनना तय है। 

किसने किया शेयर?
कई ट्विटर और फेसबुक यूजर ने भी स्क्रीनशॉट्स शेयर कर यही दावा किया है। दावे को सही साबित करने के लिए एबीपी न्यूज और इंडिया टुडे समेत कई न्यूज चैनलों के ‘लोगो’ के साथ बुलेटिन के स्क्रीनशॉट भी शेयर किए जा रहे हैं। वायरल स्क्रीनशॉट्स में से कुछ में लिखा है, ‘बिहार चुनाव में राजद को पूर्ण बहुमत- सी वोटर’, ‘तेजस्वी का मुख्यमंत्री बनना तय: पोल’ और ‘एनडीए को सिर्फ 64 सीटें मिलने का अनुमान-पोल’। वहीं स्क्रीनशॉट्स शेयर करते हुए कुछ यूजर ने लिखा कि,  “साथियों वो दिन अब दूर नहीं जब बिहार में एक 31 साल का युवा मुख्यमंत्री बनेगा”। 

क्या है सच?
भास्कर हिंदी की टीम ने पड़ताल में पाया कि, सोशल मीडिया पर वायरल बुलेटिन के स्क्रीनशॉट्स फर्जी हैं। गूगल पर अलग-अलग की वर्ड सर्च करने से भी हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली। जिससे पुष्टि होती हो कि बिहार विधानसभा चुनाव का एग्जिट पोल जारी हुआ है। वायरल स्क्रीनशॉट जिन न्यूज चैनलों के बताए जा रहे हैं। उन सभी के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल चेक करने पर हमें एग्जिट पोल के प्रसारण से जुड़ा कोई वीडियो नहीं मिला। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिहार विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल के टेलीकास्ट पर 28 अक्टूबर से लेकर 7 नवंबर तक बैन है। 7 नवंबर को बिहार में अंतिम चरण का मतदान है, इस दिन शाम को ही एग्जिट पोल टेलीकास्ट किया जा सकेगा। जबकि सोशल मीडिया पर एग्जिट पोल के दावे वाली पोस्ट्स 6 नवंबर को की गई हैं। भारत निर्वाचन आयोग ( ECI) की ऑफिशियल वेबसाइट पर बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी का वो आदेश भी है। जिसके मुताबिक 7 नवंबर से पहले एग्जिट पोल का प्रसारण नहीं हो सकता। मतलब साफ है कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा फेक है।

861e0ee1bf03da0b624f90dd618b5981 1?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर वायरल बुलेटिन के स्क्रीनशॉट्स फर्जी हैं। दरअसल, बिहार विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल के टेलीकास्ट पर 28 अक्टूबर से लेकर 7 नवंबर तक बैन है। 7 नवंबर को बिहार में अंतिम चरण का मतदान है, इस दिन शाम को ही एग्जिट पोल टेलीकास्ट किया जा सकेगा।