डाक घर RD: हर महीने जमा करिए 10 हजार रुपये, 10 साल बाद मिलेंगे इतने लाख

पोस्ट ऑफिस यानी डाक घर की रिकरिंग डिपॉजिट (RD) एक ऐसा विकल्प है, जहां आपकी जमा पर निश्चित ब्याज तो मिलेगा ही, साथ ही पैसा पूरा सेफ रहेगा.

53f483c93c06f4c58ba933d77e1f6c8d?source=nlp&quality=uhq&format=webp&resize=720

पोस्ट ऑफिस यानी डाक घर की रिकरिंग डिपॉजिट (RD) एक ऐसा विकल्प है, जहां आपकी जमा पर निश्चित ब्याज तो मिलेगा ही, साथ ही पैसा पूरा सेफ रहेगा.

Post Office RD Calculator: कोरोनावायरस महामारी (COVID-19 Pandemic) के दौर में व्यक्ति को हर बचत का महत्व समझ में आ रहा है. खासकर ऐसे निवेशकों जो महीने में अधिक से अधिक 10 हजार तक की बचत कर पाते हैं. इनके लिए सबसे जरूरी है कि वो ऐसी जगह पैसा लगाएं जहां एक निश्चित समय में गारंटीड रिटर्न मिले और पैसा भी 100 फीसदी सेफ रहे. पोस्ट ऑफिस यानी डाक घर की रिकरिंग डिपॉजिट (RD) एक ऐसा विकल्प है, जहां आपकी जमा पर निश्चित ब्याज तो मिलेगा ही, साथ ही पैसा पूरा सेफ रहेगा. क्योंकि, डाक घर की डिपॉजिट पर भारत सरकार की सॉवरेन गारंटी होती है, जबकि बैंकों में जमा पर अधिकतम 5 लाख तक ही रकम सुरक्षित रहती है. इस तरह, हर महीने छोटी बचत को निवेश कर लाखों का फंड तैयार कर सकते हैं.

डाक घर की रिकरिंग डिपॉजिट (RD) ऐसी ही स्कीम है, जो छोटी बचत को बढ़ावा देती है. वैसे तो इसकी मेच्योरिटी 5 साल की है, लेकिन आप आवेदन देकर इसे 5-5 साल के लिए आगे भी बढ़ा सकते हैं. डाक घर की RD में हर महीने न्यूनतम 100 रुपये जमा करना होता है. जमा 10 रुपये के गुणक में होना चाहिए. इसमें निवेश की अधिकतम सीमा नहीं होती है.

10 हजार से 10 साल में बनेंगे 16.28 लाख

मान लीजिए, एक निवेशक हर महीने डाक घर की RD में 10 हजार रुपये का निवेश 10 साल के लिए करता है तो उसे परिपक्वता यानी मैच्योरिटी पर 16.28 लाख रुपये मिलेंगे. डाक घर की आरडी पर मौजूदा समय में 5.8 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. ब्याज की कम्पाउंडिंग तिमाही आधार पर की जाती है.

स्कीम के फीचर्स

डाक घर की RD में सिंगल अकाउंट और ज्वॉइंट अकाउंट दोनों की सुविधा है.

ज्वॉइंट अकाउंट में अधिकतम 3 बालिग के नाम हो सकते हैं.

10 साल से ज्यादा उम्र के बच्चे के नाम भी खाता अभिभावक अपनी देख रेख में खोल सकते हैं.

RD की मेच्योरिटी 5 साल की होती है, लेकिन मेच्योरिटी के पहले आवेदन देकर इसे अगले 5-5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं.

आरडी अकाउंट में कम से कम 100 रुपये महीना और 10 के गुणक में अधिकतम कितनी भी रकम जमा कर सकते हैं.

खाता खोलने के समय नॉमिनेशन की भी सुविधा है.

खाता खोलने की तारीख से 3 साल के बाद प्री-मैच्योर क्लोजर की सुविधा रहेगी. ब्याज दरों में तिमाही आधार पर बदलाव होता है.

अकाउंट को एक डाक घर से दूसरे में ट्रांसफर किया जा सकता है.

​निश्चित समय पर जमा नहीं करने पर पेनल्टी देनी पड़ती है. यह प्रत्येक 100 रुपये पर 1 रुपये होगी.

एक साल के बाद जमा रकम का 50 फीसदी तक एक बार लोन लेने की भी सुविधा है. जिसे ब्याज के साथ एकमुश्त रिपेमेंट किया जा सकता है.

IPPB सेविंग अकाउंट के जरिए ऑनलाइन जमा कराने की भी सुविधा है.