टीका लगवाने के बाद शरीर में जम गया है खून का थक्का, इन 5 संकेतों से समझें – Stress Buster

टीका लगवाने के बाद शरीर में जम गया है खून का थक्का, इन 5 संकेतों से समझें - Stress Buster

कोरोना वायरस का प्रकोप और भी तेजी से बढ़ रहा है। बेशक कोरोना के खिलाफ टीकाकरण जारी है लेकिन इसके बावजूद लोग वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। कुछ कोरोना टीकों के दुष्प्रभाव भी सामने आ रहे हैं। उनके पास खून का थक्का भी है।

टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, हाल के अध्ययनों से संकेत मिलता है कि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका के कोरोना वैक्सीन ‘कोविशिल्ड’ के कुछ दुष्प्रभाव हैं, जिनमें रक्त के थक्के और घनास्त्रता की जटिलताएं शामिल हैं।

क्या रक्त का थक्का बनना एक गंभीर समस्या है?

भारत में अभी तक रक्त के थक्कों के कोई मामले सामने नहीं आए हैं। हालांकि, कई देशों ने दोनों टीकों के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। बताया जा रहा है कि यह दुर्लभ मामलों में पाया गया है। इसके बावजूद टीका सुरक्षित बताया जा रहा है।

सरदर्द
रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) द्वारा जारी हालिया दिशानिर्देशों के अनुसार, सिरदर्द शरीर में रक्त के थक्कों का एक सामान्य संकेत हो सकता है, जिससे रक्त मस्तिष्क में प्रवाहित होता है।

जाहिर है सिरदर्द भी टीकाकरण का एक सामान्य दुष्प्रभाव है। हालांकि, डॉक्टर का मानना ​​है कि रक्त के थक्कों की घटना से जुड़ा सिरदर्द काफी गंभीर है और अचानक शुरू हो सकता है।


Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here