झारखंड बोर्ड १०वीं १२वीं परीक्षा: झारखंड बोर्ड १०वीं, १२वीं की परीक्षा रद्द करने की उठी मांग, पूर्व मुख्यमंत्री ने कही यह बात

झारखंड बोर्ड १०वीं १२वीं परीक्षा: झारखंड बोर्ड १०वीं, १२वीं की परीक्षा रद्द करने की उठी मांग, पूर्व मुख्यमंत्री ने कही यह बात

झारखंड बोर्ड १० वीं १२ वीं परीक्षा: राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखंड बोर्ड १० वीं और १२ वीं की परीक्षा रद्द करने की मांग उठाई

झारखंड बोर्ड 10वीं 12वीं परीक्षा: देश में तेजी से फैल रही महामारी को देखते हुए केंद्र सरकार से लेकर बोर्ड और सीबीएसई और एनआईओएस समेत कई राज्य सरकारों ने मैट्रिक और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है. लेकिन इनमें से झारखंड एक ऐसा राज्य है जिसने अभी तक 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने का कोई फैसला नहीं लिया है. अब इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी झारखंड बोर्ड से 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने की मांग की है.

रघुवर दास ने कहा कि अन्य राज्यों की तरह छात्रों के स्वास्थ्य और सुरक्षा से बढ़कर कोई परीक्षा नहीं हो सकती है, इसलिए स्थिति को देखते हुए बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी जानी चाहिए.

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर आशंका व्यक्त करते हुए कहा कि विशेषज्ञों ने तीसरी लहर की भी चेतावनी दी है और ऐसे में बच्चों के साथ लापरवाही करना भारी पड़ सकता है. दूसरी लहर में कई छात्रों को कोरोना संक्रमण का सामना करना पड़ा है। ऐसे में छात्रों के अभिभावक भी इस परीक्षा के आयोजन को लेकर तनाव में हैं।

हालांकि 23 मई को होने वाली परीक्षा को लेकर जब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ उच्च स्तरीय बैठक हुई तो राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने परीक्षा रद्द करने की बात कही थी. इसके बावजूद मुख्यमंत्री ने अभी तक राज्य में परीक्षा रद्द करने को लेकर कोई घोषणा नहीं की है.

रघुवर दास ने कहा कि राज्य सरकार को इस मामले में फैसला लेने में देरी नहीं करनी चाहिए. क्योंकि छात्र परीक्षा को लेकर तनाव में हैं। उन्हें जल्द से जल्द राहत देने के लिए सरकार को इस पर जल्द से जल्द फैसला लेना चाहिए।



.

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here