जानें, अपने ब्लड प्रेशर को कैसे नियंत्रण में रखना है

जानें, अपने ब्लड प्रेशर को कैसे नियंत्रण में रखना है

रक्तचाप को रोकने के लिए आपको अपने आहार में सोडियम (नमक) की मात्रा को सीमित करना चाहिए और पोटेशियम की मात्रा बढ़ानी चाहिए। बहुत सारे फल, सब्जियां और साबुत अनाज खाने के साथ साथ उन खाद्य पदार्थों को भी खाना महत्वपूर्ण होता है जो फैट में कम होते हैं।

रक्तचाप (Blood Pressure) क्या है?

रक्तचाप आपकी आर्टरीस की दीवारों के खिलाफ आपके रक्त को पुश करने का एक दबाव या फॉर्स होता है। हर बार जब आपका दिल धड़कता है तो यह आर्टरीस में रक्त पंप करता है। जब आपका दिल धड़कता है तो आपका ब्लड प्रेशर सबसे ज्यादा होता है। इसे सिस्टोलिक प्रेशर कहते हैं। जब आपका दिल धड़कनों के बीच में विश्राम की स्थिति में होता है तो आपका रक्तचाप गिर जाता है। इसे डायस्टोलिक दबाव कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें: दूध में यह खास चीज़ें मिलाकर पीने से मजबूत होगी इम्यूनिटी, कोरोना रहेगा दूर

आपका ब्लड प्रेशर रीडिंग इन दो नंबरों का उपयोग करता है। आमतौर पर सिस्टोलिक नंबर डायस्टोलिक नंबर से पहले या ऊपर आता है। उदाहरण के लिए 120/80 रीडिंग का मतलब है 120 का सिस्टोलिक और 80 का डायस्टोलिक।

उच्च रक्तचाप की पहचान कैसे करें?

उच्च रक्तचाप का आमतौर पर कोई लक्षण नहीं होता है। इसका पता लगाने का एकमात्र तरीका है कि अपने डॉक्टर से नियमित रूप से रक्तचाप की जांच करवाते रहे। बच्चों और किशोरों के लिए डॉक्टर रक्तचाप की रीडिंग की तुलना उन सामान उम्र, ऊंचाई और लिंग के बच्चों के साथ करता है जो स्वस्थ हैं और जिनका ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है।

मधुमेह या क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों को अपना रक्तचाप 130/80 से कम रखने की सलाह दी जाती है।

उच्च रक्तचाप किसके लिए खतरनाक है?

उच्च रक्तचाप की शिकायत किसी को भी हो सकती है, लेकिन कुछ कारक हैं जो आपके जोखिम को बढ़ा सकते हैं:

1. आयु- रक्तचाप उम्र के साथ बढ़ता जाता है।

2. वजन- जो लोग अधिक वजन वाले या मोटापे से पीड़ित हैं, उनमें उच्च रक्तचाप विकसित होने की संभावना अधिक होती है।

3. सेक्स- 55 साल की उम्र से पहले पुरुषों में महिलाओं की तुलना में उच्च रक्तचाप विकसित होने की संभावना अधिक होती है। 

4. जीवनशैली- जीवनशैली की कुछ आदतें जैसे कि बहुत अधिक सोडियम (नमक) खाना या पर्याप्त पोटेशियम नहीं लेना, व्यायाम की कमी, बहुत अधिक शराब पीना, और धूम्रपान उच्च रक्तचाप के लिए आपके जोखिम को बढ़ा सकती हैं।

5. पारिवारिक इतिहास- उच्च रक्तचाप का पारिवारिक इतिहास उच्च रक्तचाप के जोखिम को बढ़ाता है।

उच्च रक्तचाप को कैसे रोका जा सकता है?

एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाकर आप उच्च रक्तचाप को रोकने में मदद कर सकते हैं। जैसे-

1. स्वस्थ आहार का सेवन करना: अपने रक्तचाप को रोकने के लिए आपको अपने आहार में सोडियम (नमक) की मात्रा को सीमित करना चाहिए और पोटेशियम की मात्रा बढ़ानी चाहिए। बहुत सारे फल, सब्जियां और साबुत अनाज खाने के साथ साथ उन खाद्य पदार्थों को भी खाना महत्वपूर्ण होता है जो फैट में कम होते हैं।

2. नियमित व्यायाम करना: व्यायाम आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने और रक्तचाप को कम करने में मदद कर सकता है। आपको सप्ताह में कम से कम ढाई घंटे और प्रति सप्ताह 1 घंटे 15 मिनट के लिए हाई इन्टेंसिटी वाले एरोबिक व्यायाम करने की कोशिश करनी चाहिए। एरोबिक व्यायाम, जैसे कि तेज चलना, या फिर कोई भी व्यायाम जिसमें आपका दिल अधिक धड़कता है और आप सामान्य से अधिक ऑक्सीजन का उपयोग करते हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से लड़ने में मदद करेंगी यह पांच चीज़ें, इम्यूनिटी भी होगी मजबूत

3. स्वस्थ वजन रखना: अधिक वजन या मोटापा होने के कारण उच्च रक्तचाप का खतरा बढ़ जाता है। एक स्वस्थ वजन बनाए रखने से आप उच्च रक्तचाप को नियंत्रित कर सकते हैं और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए अपने जोखिम को कम कर सकते हैं।

4. शराब को सीमित करना: बहुत अधिक शराब पीने से आपका रक्तचाप बढ़ सकता है। यह अतिरिक्त कैलोरी भी पैदा करता है जिससे वजन बढ़ सकता है। पुरुषों को प्रति दिन दो से अधिक पैग और महिलाओं को एक पैग से ज्यादा नहीं लेना चाहिए।

5. धूम्रपान नहीं करना: सिगरेट का सेवन आपके रक्तचाप को बढ़ाता है और आपको दिल के दौरे और स्ट्रोक के लिए हाई रिस्क में डालता है। यदि आप धूम्रपान नहीं करते हैं तो शुरू न करें। यदि आप धूम्रपान करते हैं तो अपने बेहतर स्वास्थ्य के लिए इसे तुरंत छोड़ने का प्रयास करें।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के बाद मुंह सूखने के साथ अन्य लक्षण डायबिटीज जैसे हों, तो अनदेखी न करें

6. तनाव को मैनेज करना: रिलैक्स करना और तनाव को मैनेज करना आपके भावनात्मक और शारीरिक स्वास्थ्य और उच्च रक्तचाप को कम कर सकता है। तनाव से बचने के लिए व्यायाम करना, संगीत सुनना, किसी शांत और प्रिय वस्तु पर फोकस करना और मेडिटेशन करना- इन सभी तरीकों को आप आजमा सकते हैं।

लेकिन यदि आपको पहले से ही उच्च रक्तचाप है, तो इसे और अधिक खराब होने का कारण बनने से रोकना काफी महत्वपूर्ण है। आपको नियमित ट्रीटमेंट लेना चाहिए और अपनी सभी उपचार का पालन करना चाहिए।

– शैव्या शुक्ला

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Follow Us: | Google News | Dailyhunt News| Facebook | Instagram | TwitterPinterest | Tumblr |



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here